S M L

आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में बीजेपी को टक्कर देने के लिए तैयार की रणनीति

2014 के आम चुनाव में आप ने दिल्ली की सभी सात सीटों पर उम्मीदवार उतारे थे लेकिन उनमें से कोई भी नहीं जीता था

Updated On: Dec 02, 2018 09:24 PM IST

Bhasha

0
आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में बीजेपी को टक्कर देने के लिए तैयार की रणनीति

दिल्ली में लोकसभा चुनाव में अपना खाता खोलने के लिए आशावान आम आदमी पार्टी ने सभी सात सीटों पर ‘मुख्य प्रतिद्वंद्वी’ बीजेपी को टक्कर देने के लिए ग्रामीण जनसंख्या और अन्य वर्गों को साधने के लक्ष्य से निर्वाचन क्षेत्रवार रणनीति अपनाई है. आप की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष गोपाल राय ने कहा कि उनकी पार्टी यहां ‘अकेले ही’ बीजेपी को हराने में समर्थ है. उन्होंने कांग्रेस के साथ चुनाव पूर्व किसी गठजोड़ की संभावना से इनकार किया.

अरविंद केजरीवाल सरकार में श्रम, रोजगार और विकास विभाग का जिम्मा संभाल रहे राय ने कहा, ‘आप का बीजेपी से सीधा मुकाबला है. हम अगले साल के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर दिल्ली में सभी सातों सीटों पर सीट वार विशिष्ट रणनीति बना रहे हैं.’ 2014 के आम चुनाव में आप ने दिल्ली की सभी सात सीटों पर उम्मीदवार उतारे थे लेकिन उनमें से कोई भी नहीं जीता था.

जनसंपर्क में जुटे हैं आम आदमी पार्टी के नेता

पश्चिमोत्तर दिल्ली सीट पर पार्टी की रणनीति का जिक्र करते हुए राय ने कहा कि आम आदमी पार्टी पिछले लोकसभा चुनाव में ग्रामीण क्षेत्रों में समर्थन नहीं हासिल कर पाई थी और अब इस निर्वाचन क्षेत्र के प्रभारी गगन सिंह व्यापक संपर्क कार्यक्रमों के माध्यम से इन क्षेत्रों पर ध्यान दे रहे हैं. लोकसभा सीटों के लिए आप के प्रभारी गगन सिंह कि अगले साल लोकसभा चुनाव में पार्टी उम्मीदवार बनने की संभावना है.

राय ने कहा कि चांदनी चौक लोकसभा सीट पर पार्टी के प्रभारी पंकज गुप्ता ने कारोबारी बहुल इस क्षेत्र में मतदाताओं के साथ छोटी-छोटी बैठकों पर जोर देना शुरु किया है. 2014 के लोकसभा चुनाव में इस सीट से केंद्रीय मंत्री हर्षवर्द्धन जीते थे. पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट पर मतदाताओं के मिलेजुले रूख, संपन्न इलाकों और अवैध कालोनियों को देखते हुए आप यहां जनसंपर्क पर जोर दे रही है. इस सीट के लिए वरिष्ठ आप नेता आतिशी को प्रभारी बनाया गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi