S M L

मरीना बीच विरोध प्रदर्शन पर स्टालिन के खिलाफ मामला दर्ज

स्टालिन सीक्रेट वोटिंग न कराए जाने का विरोध कर रहे थे

Updated On: Feb 19, 2017 11:26 AM IST

FP Staff

0
मरीना बीच विरोध प्रदर्शन पर स्टालिन के खिलाफ मामला दर्ज

चेन्नई में तमिलनाडु के विपक्षी दल डीएमके के नेता एम के स्टालिन के खिलाफ केस दर्ज हुआ है. उन पर शनिवार को चेन्नई के मरीना बीच पर किए विरोध प्रदर्शन की वजह से मामला दर्ज किया गया है.

तमिलनाडु में पलानीसामी के विश्वासमत हासिल करने के बाद एम के स्टालिन ने मरीना बीच पर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया था.

विश्वासमत की वोटिंग के पहले एमके स्टालिन डीएमके नेताओं के साथ मिलकर स्पीकर पी धनपल का विरोध कर रहे थे. इन्होंने कुर्सियां तोड़ डाली और टेबल पर चढ़ गए. इस दौरान उनके कपड़े भी अस्त व्यस्त हो गए. इसके बाद वो मरीना बीच पर जाकर भूख हड़ताल पर बैठ गए. जहां से पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया.

स्टालिन ने विधानसभा में अपने साथ हाथापाई होने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि उनकी शर्ट फाड़ दी गई. सत्तापक्ष के लोगों ने उनके साथ हाथापाई की.

इसके बाद स्टालिन ने राज्य के गवर्नर सी विद्यासागर राव से मिलकर स्पीकर की शिकायत की. स्टालिन ने कहा कि स्पीकर ने सीक्रेट वोटिंग कराने की उनकी मांग अनसुनी कर दी.

विपक्ष की अनुपस्थिति में पलानीसामी ने 122 वोट हासिल कर लिए. सिर्फ 11 वोट उनके खिलाफ पड़े.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi