S M L

मोदी सरकार के 4 साल: हमारी सरकार ने परिवारवाद, तुष्टिकरण और जातिवाद से निजात दिलाई- शाह

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, नरेंद्र मोदी सरकार ने परिवारवाद, तुष्टिकरण और जातिवाद की राजनीति को बदलकर पॉलिटिक्स ऑफ़ परफॉरमेंस को आगे बढ़ाने का काम किया

Updated On: May 26, 2018 01:39 PM IST

FP Staff

0
मोदी सरकार के 4 साल: हमारी सरकार ने परिवारवाद, तुष्टिकरण और जातिवाद से निजात दिलाई- शाह

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार के 4 साल पूरे होने के मौके पर शनिवार को दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एनडीए सरकार की उपलब्धियां  गिनाईं. शाह ने मौजूदा सरकार को भ्रष्टाचार विहीन, कड़े फैसले लेने वाली और गरीब-गांव-किसानों के हितों को समझने वाली सरकार बताया.

शाह ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा, बीजेपी ने देश को सर्वाधिक काम करने वाला प्रधानमंत्री देने का काम किया है, ये हमारे लिए गौरव कि बात है. उन्होंने कहा, नरेंद्र मोदी सरकार ने परिवारवाद, तुष्टिकरण और जातिवाद की राजनीति को बदलकर पॉलिटिक्स ऑफ़ परफॉरमेंस को आगे बढ़ाने का काम किया है. साथ ही मोदी सरकार ने 'सबका साथ - सबका विकास' के सूत्र को चरितार्थ करने का काम किया है. हमने स्व-रोजगारी को बढ़ावा देकर करोड़ों लोगों को रोजगारी देने का काम किया है. शाह ने आगे कहा, हमने एक भी घोटाले के बिना लाखों-करोड़ के इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स को पूरा करने का काम किया है.

बीजेपी अध्यक्ष शाह ने मोदी सरकार को कृषि बजट को दोगुना करने वाली और भारत को सबसे तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बना कर विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने वाली सरकार बताया.

विपक्षी पार्टियों की राजनीति पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, विपक्ष का एजेंडा है मोदी और बीजेपी को हटाओ लेकिन भारतीय जनता पार्टी का एजेंडा है देश से अव्यवस्था, भ्रष्टाचार और गरीबी को हटाकर स्थिरता और विकास प्रदान करना. शाह के मुताबिक, सीमाओं की सुरक्षा पर हमारी जीरो टॉलरेंस की नीति है, सबसे ज्यादा आतंकवादी पीएम मोदी के कार्यकाल में ही मारे गए हैं.

राहुल गांधी के विरोधी रुख के बारे में पूछे एक सवाल पर शाह ने कहा, आप राहुल गांधी से और क्या उम्मीद रखते हैं? वे विपक्ष में हैं तो उन्हें ऐसा करना ही पड़ेगा. वो थोड़ी न हमारी बखान करेंगे. हमने लोगों के सामने तथ्य और आंकड़े रख दिए हैं, जो कोई चाहे इसे चुनौती दे सकता है.

तेल की बढ़ती कीमतों के बारे में उन्होंने कहा, कांग्रेस राज के शुरुआती तीन साल में भी इतने ही दाम थे लेकिन हमारी सरकार में बढ़ी कीमतों पर वे (कांग्रेस) मात्र तीन में ही परेशान हो गए. सरकार इस बारे में गंभीरता से सोच रही है और जल्द ही कोई दीर्घकालिक उपाय किया जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi