S M L

दिल्ली के रामलीला मैदान से बजेगा मिशन 2019 का बिगुल, पार्टी का थीम अबकी बार फिर मोदी सरकार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिनों तक इस अधिवेशन में मौजूद रहेंगे, लिहाजा मिनी पीएमओ भी तैयार किया गया है, जिससे जरूरत पड़ने पर वो अपना काम कर सकेंगे.

Updated On: Jan 11, 2019 08:29 AM IST

Amitesh Amitesh

0
दिल्ली के रामलीला मैदान से बजेगा मिशन 2019 का बिगुल, पार्टी का थीम अबकी बार फिर मोदी सरकार

‘अबकी बार फिर मोदी सरकार’ के नारे के सहारे बीजेपी फिर लोकसभा चुनाव 2019 में अपना परचम लहराने की कोशिश कर रही है. पार्टी को लगता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की साफ-सुथरी छवि और बेहतर शासन के आधार पर एक बार फिर वो सत्ता में आएगी, लिहाजा पार्टी का थीम रखा गया है ‘अबकी बार फिर मोदी सरकार.’ 2014 में ‘अबकी बार मोदी सरकार’ का नारा सफल रहा था, लिहाजा अब उसी नारे की तर्ज पर फिर से नया नारा गढ़ा गया है.

दिल्ली के रामलीला मैदान में पार्टी के दो दिनों के अधिवेशन में भी यही नारा छाया रहेगा. लोकसभा चुनाव से ठीक पहले दिल्ली के रामलीला मैदान में बीजेपी का राष्ट्रीय अधिवेशन बुलाया गया है. 11 और 12 जनवरी को होने वाले इस अधिवेशन में सबकी नजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर होगी, जब वो देशभर के अपने कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह 11 जनवरी को अपने अध्यक्षीय भाषण से पार्टी के अधिवेशन की शुरुआत करेंगे, जबकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 जनवरी को अंतिम दिन 2019 की लड़ाई से पहले अपने कार्यकर्ताओं में जोश भरने की कोशिश करेंगे.

लोकसभा चुनाव के लिए मिलेगा मोदी-मंत्र!

Narendra Modi Taking Oath

(फोटो: रॉयटर्स)

पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन में देश के मौजूदा हालत पर चर्चा भी होगी और इस बाबत तीन प्रस्ताव भी पारित कराए जाएंगे. पार्टी सूत्रों के मुताबिक, पहले दिन एक राजनीतिक प्रस्ताव पारित होगा, जबकि दूसरे दिन राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दे पर एक प्रस्ताव पारित होगा और दूसरा आर्थिक प्रस्ताव पारित होगा.

ये भी पढ़ें: सामान्य वर्ग के 10% कोटा पर ‘विरोध’ की कुछ आवाजों को अनसुना नहीं किया जा सकता

सरकार के पांच साल पूरे होने जा रहे हैं, लिहाजा लोकसभा चुनाव की आहट अब सुनाई देने लगी है. उम्मीद की जा रही है कि 2014 की तरह ही 2019 में भी चुनाव अप्रैल –मई में ही कई चरणों में कराए जाएंगे. ऐसे में सत्ताधारी बीजेपी अपने कार्यकर्ताओं के बीच एक बेहतर संदेश देने की कोशिश में है.

पार्टी अध्यक्ष अमित शाह का माइक्रोमैनेजमेंट और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार की पांच साल की उपलब्धि को देश के लोगों तक पहुंचाने की कोशिश की जा रही है. मोदी और शाह दोनों के भाषण से पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए महासमर में उतरने से पहले का संदेश होगा.

कार्यकर्ताओं का महासमागम

बीजेपी के राष्ट्रीय अधिवेशन में देश भर के लगभग 12000 पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को बुलाया गया है. ये सभी पदाधिकारी और कार्यकर्ता जिला स्तर तक के होंगे. दो दिनों के अधिवेशन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा उनकी सरकार के सभी मंत्री शामिल होंगे. इसके अलावा पार्टी के सभी लोकसभा और राज्यसभा के सांसद मौजूद रहेंगे. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के अलावा पार्टी के सभी पदाधिकारी दो दिनों तक रामलीला मैदान में रहेंगे.

बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों, उपमुख्यमंत्रियों के अलावा सभी राज्यों की सरकारों के मंत्री इस अधिवेशन में मौजूद रहने वाले हैं. इसके अलावा सभी राज्यों के पार्टी एमएलए औऱ एमएलसी और पार्टी के सभी राज्यों के पदाधिकारी अधिवेशन में शिरकत करने वाले हैं. पार्टी ने जिला स्तर की अपनी टीम को भी अधिवेशन में बुलाया है, जिससे पार्टी की रणनीति को धार देकर देश के हर कोने में कार्यकर्ताओं के बीच एक संदेश दिया जा सके. क्योंकि अब तो महासमर में उतरने की उल्टी गिनती शुरू हो गई है.

रामलीला मैदान में पूरे इंतजाम

assam-bjp

इन सभी कार्यकर्ताओं के लिए खाने की भी व्यवस्था रामलीला मैदान में ही की गई है. रामलीला मैदान में पंडाल को हाईटेक और वाटरप्रूफ बनाया गया है जबकि, 100 फीट चौडा और 40 फीट लंबा स्टेज बनाया गया है.

इतने बड़े आयोजन की तैयारी पूरी कर ली गई है. इस काम में राष्ट्रीय और दिल्ली बीजेपी के लगभग 30 नेताओं और सैकड़ों कार्यकर्ताओ को लगाया गया है.

ये भी पढ़ें: CBI Vs CBI: आलोक वर्मा संस्थान का मान रखने में नाकाम रहे, वो इस पद के लायक नहीं थे

प्रधानमंत्री से लेकर कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों और केंद्रीय मंत्रियों की मौजूदगी के चलते सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम किए गए हैं. दिल्ली पुलिस के अलावा अर्धसैनिक बलों की भी तैनाती की गई है. इसके अलावा सीसीटीवी कैमरे और ड्रोन से भी रामलीला मैदान की हर गतिविधि की निगरानी की जा रही है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिनों तक इस अधिवेशन में मौजूद रहेंगे, लिहाजा मिनी पीएमओ भी तैयार किया गया है, जिससे जरूरत पड़ने पर वो अपना काम कर सकेंगे. इसके अलावा राज्यों के मुख्यमंत्रियों के लिए भी अपना काम करने के लिए अलग लॉंज तैयार किया गया है.पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के लिए भी अलग बैठने की व्यवस्था की गई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi