S M L

धारा 377: ऐतिहासिक फैसला और इसकी खास बातें

फ़ोटो | FP Staff | Sep 06, 2018 02:30 PM IST
X
1/ 5
सुप्रीम कोर्ट ने धारा 377 पर ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए समलैंगिकता को मान्यता दे दी है. मतलब दो व्यस्कों के बीच समलैंगिक संबंध अब अपराध नहीं माना जाएगा.

सुप्रीम कोर्ट ने धारा 377 पर ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए समलैंगिकता को मान्यता दे दी है. मतलब दो व्यस्कों के बीच समलैंगिक संबंध अब अपराध नहीं माना जाएगा.

X
2/ 5
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि एलजीबीटी समुदाय को अन्य नागरिकों की तरह समान मानवीय और मौलिक अधिकार हैं

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि एलजीबीटी समुदाय को अन्य नागरिकों की तरह समान मानवीय और मौलिक अधिकार हैं

X
3/ 5
चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने कहा, पहचान बरकरार रखना लाइफ के पिरामिड के लिए जरूरी है. खुद को अभिव्यक्त नहीं कर पाना मरने के समान है

चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने कहा, पहचान बरकरार रखना लाइफ के पिरामिड के लिए जरूरी है. खुद को अभिव्यक्त नहीं कर पाना मरने के समान है

X
4/ 5
सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के साथ ही देश में 158 साल पुराना ब्रिटिश कानून अब खत्म हो गया

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के साथ ही देश में 158 साल पुराना ब्रिटिश कानून अब खत्म हो गया

X
5/ 5
 फैसला आने के बाद देश के कई हिस्सों में जश्न का माहौल देखने को मिला

फैसला आने के बाद देश के कई हिस्सों में जश्न का माहौल देखने को मिला

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी