S M L

26/11 मुंबई आतंकी हमला: 'रेलवे स्टेशन पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने कसाब और उसके साथी को भागने दिया'

फ़ोटो | FP Staff | Nov 26, 2018 07:21 AM IST
X
1/ 5
मुंबई आतंकी हमले को दस साल हो गए हैं. इस हमले में 150 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी. यह हमला 26 नवंबर (बुधवार) को हुआ था और 29 नवंबर को खत्म हुआ था.

मुंबई आतंकी हमले को दस साल हो गए हैं. इस हमले में 150 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी. यह हमला 26 नवंबर (बुधवार) को हुआ था और 29 नवंबर को खत्म हुआ था.

X
2/ 5
इस हमले में एक आतंकी जिंदा पकड़ा गया था. जिसका नाम मोहम्मद अजमल कसाब था. मुंबई हमले के इकलौता जिंदा पकड़े गए आतंकवादी अजमल कसाब को फांसी देने के लिए मुंबई से पुणे ले जाने का अभियान अति गोपनीय था. इस दौरान सभी सुरक्षा कर्मियों के मोबाइल ले लिए गए थे. साथ ही कोड वर्ड भी इस्तेमाल किए गए थे. जैसे- पार्सल रिच्ड फॉक्स्ड

इस हमले में एक आतंकी जिंदा पकड़ा गया था. जिसका नाम मोहम्मद अजमल कसाब था. मुंबई हमले के इकलौता जिंदा पकड़े गए आतंकवादी अजमल कसाब को फांसी देने के लिए मुंबई से पुणे ले जाने का अभियान अति गोपनीय था. इस दौरान सभी सुरक्षा कर्मियों के मोबाइल ले लिए गए थे. साथ ही कोड वर्ड भी इस्तेमाल किए गए थे. जैसे- पार्सल रिच्ड फॉक्स्ड

X
3/ 5
2008 के मुंबई हमले के दौरान मुंबई पुलिस के असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर तुकाराम ओंबले ने केवल एक लाठी के सहारे अजमल आमिर कसाब जैसे आतंकवादी को जिंदा पकड़ा था. इस कोशिश में वो खुद शहीद हो गए थे.

2008 के मुंबई हमले के दौरान मुंबई पुलिस के असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर तुकाराम ओंबले ने केवल एक लाठी के सहारे अजमल आमिर कसाब जैसे आतंकवादी को जिंदा पकड़ा था. इस कोशिश में वो खुद शहीद हो गए थे.

X
4/ 5
हमले के दूसरे दिन ताज होटल में एनएसजी ने मोर्चा संभाला था. आतंकवादी बंधकों को मारते जा रहे थे और होटल में ग्रेनेड का इस्तेमाल कर रहे थे. एनएसजी कमांडो गजेंद्र सिंह बिष्ट और मेजर संदीप उन्नीकृष्णन को इन आंतकियों से सीधे इनकाउंटर में शहीद होना पड़ा, लेकिन इनके चलते ही ताज होटल को हमलावरों से छुड़वाया जा सका.

हमले के दूसरे दिन ताज होटल में एनएसजी ने मोर्चा संभाला था. आतंकवादी बंधकों को मारते जा रहे थे और होटल में ग्रेनेड का इस्तेमाल कर रहे थे. एनएसजी कमांडो गजेंद्र सिंह बिष्ट और मेजर संदीप उन्नीकृष्णन को इन आंतकियों से सीधे इनकाउंटर में शहीद होना पड़ा, लेकिन इनके चलते ही ताज होटल को हमलावरों से छुड़वाया जा सका.

X
5/ 5
मुंबई छत्रपति शिवाजी स्टेशन पर भी आतंकियों ने हमला किया था. मुंबई में 10 साल पहले हुए आतंकी हमले के दौरान छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस पर आतंकवादी अजमल कसाब की करीब से तस्वीर लेने वाले फोटो पत्रकार का आरोप है कि रेलवे स्टेशन पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने कसाब और उसके साथी को भागने दिया.

मुंबई छत्रपति शिवाजी स्टेशन पर भी आतंकियों ने हमला किया था. मुंबई में 10 साल पहले हुए आतंकी हमले के दौरान छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस पर आतंकवादी अजमल कसाब की करीब से तस्वीर लेने वाले फोटो पत्रकार का आरोप है कि रेलवे स्टेशन पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने कसाब और उसके साथी को भागने दिया.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी