S M L

भारतीय सेना का युद्धाभ्यास: 25,000 सैनिकों ने अपने पूरे हथियारों और साजो-सामान के साथ लिया हिस्सा

फ़ोटो | FP Staff | May 09, 2018 08:13 PM IST
X
1/ 5
इस अभ्यास में एयर कैवेलरी रणनीति का पूरी तरह से इस्तेमाल किया गया और उसे सफल पाया गया है साथ ही सभी सैनिक किसी भी प्रकार की आक्रामक कार्रवाई करने के लिए अब पूरी तरह से प्रशिक्षित हैं

इस अभ्यास में एयर कैवेलरी रणनीति का पूरी तरह से इस्तेमाल किया गया और उसे सफल पाया गया है साथ ही सभी सैनिक किसी भी प्रकार की आक्रामक कार्रवाई करने के लिए अब पूरी तरह से प्रशिक्षित हैं

X
2/ 5
भारतीय सेना के सप्त शक्ति कमान के युद्धाभ्यास ‘विजय प्रहार’ में 25,000 सैनिकों ने अपने पूरे हथियारों और साजो-सामान के साथ हिस्सा लिया (फोटो: PTI)

भारतीय सेना के सप्त शक्ति कमान के युद्धाभ्यास ‘विजय प्रहार’ में 25,000 सैनिकों ने अपने पूरे हथियारों और साजो-सामान के साथ हिस्सा लिया (फोटो: PTI)

X
3/ 5
राजस्थान के महाजन फील्ड फायरिंग रेंज में डेढ महीने तक चले इस युद्ध अभ्यास का बुधवार को समापन था. सप्त शक्ति कमान के जनरल ऑफिसर कमाण्डिंग-इन-चीफ,लेफ्टिनेन्ट जनरल चेरिश मैथसन, ने इस युद्वाभ्यास का अवलोकन किया

राजस्थान के महाजन फील्ड फायरिंग रेंज में डेढ महीने तक चले इस युद्ध अभ्यास का बुधवार को समापन था. सप्त शक्ति कमान के जनरल ऑफिसर कमाण्डिंग-इन-चीफ,लेफ्टिनेन्ट जनरल चेरिश मैथसन, ने इस युद्वाभ्यास का अवलोकन किया

X
4/ 5
महाजन फील्ड रेंज में जनरल ऑफिसर कमांडिंग ने कहा कि उन्होंने इस युद्धाभ्यास के लिए विभिन्न प्रकार के कठिन मापदण्ड तय किए थे और अपने सैनिकों द्वारा हासिल किए गए नतीजों से वे पूरी तरह संतुष्ट हैं

महाजन फील्ड रेंज में जनरल ऑफिसर कमांडिंग ने कहा कि उन्होंने इस युद्धाभ्यास के लिए विभिन्न प्रकार के कठिन मापदण्ड तय किए थे और अपने सैनिकों द्वारा हासिल किए गए नतीजों से वे पूरी तरह संतुष्ट हैं

X
5/ 5
रसद पहुंचाने की ‘जस्ट इन टाइम’ तकनीक का इस्तेमाल करते हुए हमारी सेना अब दुश्मन के इलाके में भीतर तक जाकर मार कर सकने में सक्षम हैं. इस युद्धाभ्यास में वायुसेना के साथ भी बेहतर किस्म का समन्वय स्थापित हुआ

रसद पहुंचाने की ‘जस्ट इन टाइम’ तकनीक का इस्तेमाल करते हुए हमारी सेना अब दुश्मन के इलाके में भीतर तक जाकर मार कर सकने में सक्षम हैं. इस युद्धाभ्यास में वायुसेना के साथ भी बेहतर किस्म का समन्वय स्थापित हुआ

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी