S M L

फिर बढ़ा जीका वायरस का खतरा, राजस्थान जाने से बचें गर्भवती महिलाएं

जीका वायरस का खतरा बढ़ने से US की हेल्थ एजेंसी ने गर्भवती महिलाओं के लिए अलर्ट जारी किया है

Updated On: Dec 20, 2018 04:00 PM IST

FP Staff

0
फिर बढ़ा जीका वायरस का खतरा, राजस्थान जाने से बचें गर्भवती महिलाएं

देश में जीका वायरस का खतरा एक बार फिर बढ़ गया है. ऐसे में अमेरिका के सेंर्ट्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) ने गर्भवती महिलाओं के लिए लेवल 2 हेल्थ अलर्ट जारी किया है. इस अलर्ट में गर्भवती महिलाओं को राजस्थान जाने से मना किया गया था. दरअसल पिछले कुछ दिनों में खासकर राजस्थान में लोगों में जीका वायरस फैलने के कई मामले सामने आए है, जिसके चलते ये अलर्ट जारी किया गया है.

हेल्थ अलर्ट जारी करते हुए CDC ने कहा है कि जिका वायरस से सबसे ज्यादा खतरा गर्भवती महिलाओं को ही है. राजस्थान और आस पास के क्षेत्र में जीका वायरस से प्रभावित लोगों के कई मामले सामने आए हैं. गर्भवती महिलाओं में ये वायरस भ्रूण के जरिए फैसला है. ऐसे में गर्भवती महिलाओं को इन क्षेत्रों में बिल्कुल नहीं जाना चाहिए.

153 मामले आए सामने

न्यूज 18 की रिपोर्ट के मुताबिक अक्टूबर और नवंबर के दौरान राजस्थान में जीका वायरस से 153 लोगों के संक्रमित होने के मामले सामने आए. ऐसे हातालों ने अधिकारियों को चिंता में डाल दिया है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (NCDC) को इन मामलों पर हर रोज नजर बनाए रखने के लिए कहा है.

जीका वायरस का पहला मामला राजस्थान में 22 सितंबर को सामने आया था जिसमें 85 साल की महिला जीका वायरस से संक्रमित थी. खास बात यह थी इस बुजुर्ग महिला ने कभी भी यात्रा नहीं की थी, लेकिन फिर भी उन्हें ये बीमारी हो गई.

इस वायरस से बचने के लिए उठाए जा रहे हैं कदम

जीका वायरस को फैलने से रोकने के लिए फॉगिंग की जा रही है. इसके साथ स्थिति पर नजर रखने के लिए NCDC में कंट्रोल रूम बनाया गया है. इसके लिए जयपुर में टीमें भी बढ़ा दी गई है. अभी कुल 170 टीमों को स्थिति पर नजर बनाए रखने के लिए तैनात किया गया है. वहीं हीराबाग ट्रेनिंग सेंटर में स्पेशल आइसोलेशन वार्ड भी बनाए गए हैं जहां जीका वायरस से संक्रमित मरीजों का ट्रीटमेंट होगा. बताया जा रहा है कि गर्भवती महिलाओं में जीका वायरस फैलने से इसका असर बच्चे पर पड़ेगा. इससे नवजात बच्चे को शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.

कैसे फैलता है वायरस

जीका वायरस मच्छर से फैलता है. एडीज मच्छर के जरिए फैलने वाले जीका वायरस की चपेट में आने से लोग इससे संक्रमित हो जाते हैं. वहीं मच्छरों के अलावा असुरक्षित शारीरिक संबंध और संक्रमित खून से भी जीका बुखार या वायरस फैलता है.

ये हैं लक्षण

- व्यक्ति को बुखार होता है.

-शरीर की त्वचा पर लाल दाग हो जाते हैं.

- आंखों में संक्रमण हो जाता है और आंखे लाल हो जाती हैं.

- मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द की शिकायत होती है.

- सिरदर्द की भी समस्या देखी जाती है.

ऐसे करें बचाव

-जीका वायरस मच्छरों के कारण फैलता है. ऐसे में मच्छरों की रोकथाम जरूरी है.

-मच्छरों की रोकथाम के लिए घरों के आस-पास और घर में किसी जगह पानी को इकट्ठा न होने दें. गमले, कूलर जैसी जगह जहां पानी इकट्ठा रहता है उसे खाली कर दें.

-मच्छरों से बचाव के लिए खुद को ढक कर रखें. शरीर की कपड़ों से सुरक्षा करें और हल्के रंग के कपड़े पहनें.

-मच्छरदानी का प्रयोग करें

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi