S M L

अयोध्या विवाद में मध्यस्थता की पेशकश की थी: पूर्व चीफ जस्टिस

उन्होंने कहा कि भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है जो कि वैश्विक शक्ति बनना चाहता है, लेकिन आप कभी भी सांप्रदायिक छवि के साथ वैश्विक शक्ति नहीं बन सकते

FP Staff Updated On: Jan 12, 2018 11:24 AM IST

0
अयोध्या विवाद में मध्यस्थता की पेशकश की थी: पूर्व चीफ जस्टिस

शुक्रवार को दिल्ली में युवा दिवस के मौके पर संबोधित हुए पूर्व चीफ जस्टिस जे एस खेहर ने कहा कि उन्होंने अयोध्या विवाद बातचीत के जरिए सुलझाने की कोशिश की थी.

पूर्व चीफ जस्टिस ने कहा कि हर मुद्दा जंग के जरिए नहीं सुलाझाया जा सकता, उसके लिए शांति और बातचीत ही जरिया है. उनके अनुसार अन्य देशों की तुलना में भारत जैसे देश में मुद्दों को सुलझाने के लिए शांति और बातचीत की संभावना ज्यादा है.

खेहर का कहना है कि यही वजह थी जिसके कारण उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान अयोध्या विवाद में मध्यस्थ बनने की पेशकश की थी.

साथ ही ताजा माहौल के बारे में पूर्व चीफ जस्टिस ने कहा कि आज जो भी भारत में हो रहा है वह विश्व के सामने भारत की छवि सांप्रदायिक देश के तौर पर गढ़ रहा है. जो कि राष्ट्रहित में नहीं है.

उन्होंने कहा कि भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है जो कि वैश्विक शक्ति बनना चाहता है, लेकिन आप कभी भी सांप्रदायिक छवि के साथ वैश्विक शक्ति नहीं बन सकते.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi