S M L

मुजफ्फरनगर दंगा: योगी सरकार ने आरोपियों पर केस चलाने की अब तक नहीं दी इजाजत

दंगों के लगभग 20 मामलों में विधायक और सांसद भी आरोपियों की सूची में हैं

Updated On: Dec 24, 2018 08:50 PM IST

Bhasha

0
मुजफ्फरनगर दंगा: योगी सरकार ने आरोपियों पर केस चलाने की अब तक नहीं दी इजाजत

यूपी के मुजफ्फरनगर में 2013 में हुए दंगों के मामलों की जांच कर रही एसआईटी को आरोपियों के खिलाफ केस चलाने की इजाजत योगी सरकार से अब तक नहीं मिली है. दंगों के लगभग 20 मामलों में विधायक और सांसद भी आरोपियों की सूची में हैं.

एसआईटी के सूत्रों के अनुसार आईपीसी की धारा 153 ए(धार्मिक जगह पर किया गया अपराध) के तहत आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने के जांच एजेंसी की मांग पर राज्य सरकार ने पिछले पांच साल से अब तक कोई जवाब नहीं दिया है.

उन्होंने बताया कि विशेष जांच दल (एसआईटी) ने राज्य सरकार से आरोपियों के खिलाफ दंगों के 20 मामलों में कथित रूप से घृणा फैलाने वाला भाषण देने के मामले में मुकदमा चलाने की अनुमति मांगी थी.

पुलिस ने बीजेपी विधायक उमेश मलिक, बीजेपी सांसद भारतेंदु सिंह, हिंदूत्व नेता साध्वी प्राची और अन्य के खिलाफ इसमें उनकी कथित भूमिका के लिए मामला दर्ज किया गया था. मुजफ्फरनगर में 2013 में हुए सांप्रदायिक संघर्ष में कम से कम 60 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 40 हजार से अधिक लोग विस्थापित हुए थे.

ये भी पढ़ें: महागठबंधन को महाझटका: 2019 के चुनाव में बीएसपी मध्यप्रदेश से अकेले लड़ेगी चुनाव

ये भी पढ़ें: राजस्थान: वोट तो ले लिया, अब जनता की सुध कौन लेगा?

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi