Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

यूपी बोर्ड में अब योग की पढ़ाई हुई अनिवार्य, रामदेव करेंगे मदद!

इलाहाबाद में हुई बोर्ड की बैठक में योग को पाठ्यक्रम में शामिल करने की मंजूरी दी गई है

Bhasha Updated On: Apr 26, 2017 09:23 PM IST

0
यूपी बोर्ड में अब योग की पढ़ाई हुई अनिवार्य, रामदेव करेंगे मदद!

सूबे में योगी सरकार के गठन के बाद शिक्षा महकमे में भी साफ तौर पर बदलाव नजर आने लगा है. एशिया के सबसे बड़े परीक्षा बोर्ड उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने आगामी नए सत्र से अपने पाठ्यक्रम में योग को अनिवार्य विषय के रूप में शामिल करने का फैसला किया है.

योग का पाठ्यक्रम तैयार करने के लिए माध्यमिक शिक्षा परिषद की विषय समिति पंतजलि योग पीठ की भी मदद लेगी. इलाहाबाद में हुई बोर्ड की बैठक में योग को पाठ्यक्रम में शामिल करने की मंजूरी दी गई है.

शारीरिक और नैतिक शिक्षा के तहत होगी पढ़ाई 

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के चेयरमैन अमरनाथ वर्मा के मुताबिक शारीरिक शिक्षा और नैतिक शिक्षा के पाठ्यक्रम में योग को अनिवार्य विषय के रूप में शामिल कर लिया गया है.

पहले योग विषय के लिए जहां 5 अंक निर्धारित किए गए थे, वहीं अब माध्यमिक कक्षाओं में योग विषय का 20 अंको का आतंरिक मूल्यांकन किया जाएगा.

इसके साथ ही बीजेपी के चुनावी संकल्प घोषणा पत्र पर अमल करते हुए यूपी बोर्ड अब नए स्कूलों को ऑनलाइन ही मान्यता प्रदान करेगा. बोर्ड अपने दस्तावेजों को सहेजने के लिए वर्ष 1980 से लेकर अब तक 35 वर्षों का डिजिटाइजेशन का कार्य भी जल्द शुरू करेगा.

नए शैक्षणिक सत्र से शासकीय, अशासकीय और वित्तीय सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलों में बॉयोमेट्रिक हाजिरी अनिवार्य रूप से लागू करने का प्रस्ताव भी बोर्ड ने पास किया है.

साभार: न्यूज़ 18 हिंदी

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi