S M L

अंतिम संस्कार के नहीं थे पैसे, बेटे के शव को दान में दे दिया

छत्तीसगढ़ में एक आदिवासी महिला ने अपने बेटे के शव को घर ले जाने के पैसे नहीं होने के चलते अस्पताल को डोनेट कर दिया

Updated On: Feb 17, 2018 10:48 PM IST

FP Staff

0
अंतिम संस्कार के नहीं थे पैसे, बेटे के शव को दान में दे दिया

छत्तीसगढ़ में रूह कंपा देने वाली एक घटना सामने आई है. एक मां जिसके बेटे की एक एक्सीडेंट में मौत हो गई थी वह अपने बेटे के शव को गरीबी के चलते घर नहीं ले जा पाई. अंतत: गरीबी के आगे हार मानकर महिला ने अपने 21 वर्षीय बेटे के शव को अस्पताल को डोनेट कर दिया.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक महिला के पास बेटे के अंतिम संस्कार के लिए अस्पताल से गांव ले जाने के लिए पैसे नहीं थे जिसके बाद महिला ने बेटे का शव अस्पताल को सौंप दिया.

मृतक की पहचान कुतुलनार गांव निवासी बामन के रूप में हुई है, जिसे सोमवार को अज्ञात गाड़ी ने टक्कर मार दी थी जिसमें उसकी मौत हो गई. एक्सिडेंट के बाद उस अस्पताल ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया.

सुधारी बाई ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया 'मेरे पास अपने बेटे की अंतिम संस्कार के लिए पैसे नहीं थे' जब महिला से बेटे के शव को अस्पताल को सौंपने के बारे में पूछा गया तो महिला ने बताया 'किसी ने हमारी मदद नहीं की. एक व्यक्ति ने हमें शव को अस्पताल को डोनेट करने की सलाह दी और हम इस पर राजी हो गए.'

महिला का गांव जगदालपुर (जहां अस्पताल स्थित है) से करीब 20 किलोमीटर की दूरी पर है. सुधारी बाई के पति की मौत पहले ही हो गई और वह अपने बेटे के साथ ही रहती थीं.

(तस्वीर प्रतीकात्मक है)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi