S M L

पीएम मोदी के समर्थन में निकाली रैली तो पति ने दिया तीन तलाक

तीन तलाक के समर्थन में पीड़िता ने पीएम मोदी के लिए रैली निकाली थी, जिसके बाद पीड़िता घर पहुंची तो उसके पति ने उसे तलाक दे दिया

Updated On: Dec 10, 2017 12:09 AM IST

FP Staff

0
पीएम मोदी के समर्थन में निकाली रैली तो पति ने दिया तीन तलाक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पक्ष में रैली निकालना एक महिला को महंगा साबित हुआ. गुस्साए पति ने पहले तो महिला को जमकर पीटा और उसके बाद तीन तलाक देकर एक साल के मासूम बेटे के साथ घर से निकाल दिया. जब महिला न्याय के लिए थाने पहुंची तो पुलिस ने पीड़िता की नहीं सुनी जिसके बाद पीड़िता अधिवक्ता के जरिए कोर्ट की शरण में पहुंची.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की लाख कोशिशों के बाद भी महिलाओं को न्याय के लिए दर-दर भटकना पढ़ रहा है, मामला उत्तर प्रदेश के बरेली जिले से है जहां एक महिला ने तीन तलाक पर सरकार के कानून बनाने की खुशी जाहिर करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पक्ष में रैली निकाली तो बौखलाए उसके पति ने पहले महिला को जमकर पीटा और फिर उसको तीन तलाक देकर घर से बाहर निकाल दिया.

महिला के पास एक साल का लड़का भी है वह दोनों रात भर बाहर बैठे रहे जब इसकी भनक उसके मायके वालों को लगी तो वह भी न्याय की गुहार लगाने थाने जा पहुंचे, मगर पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं जिसके बाद पीड़ित न्याय के लिए अधिवक्ता से मिली है

नरेंद्र मोदी के लिए मांगे वोट

पीड़िता सायरा थाना किला क्षेत्र के मोहल्ला इंग्लिश गंज निवासी है, दरअसल पीड़िता सायरा ने हक फाउंडेशन के बैनर तले केंद्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी की बहन फरहत नकवी समेत तमाम महिलाओं के साथ तीन तलाक पर बन रहे कानून के पक्ष में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए एक रैली निकाली थी. जिसमें प्रधानमंत्री का धन्यवाद देते हुए तीन तलाक पर सख्त से सख्त कानून बनाने की मांग करते हुए गुजरात में नरेंद्र मोदी के लिए मुस्लिम महिलाओं से वोट मांगने की अपील की गई थी.

रैली के समाप्त होने के बाद जब महिला घर पहुंची तो उसके पति दानिश खान ने मोदी के पक्ष में रैली निकलने के लिए पहले तो उसको जमकर पीटा और तीन तलाक देकर उसके एक साल के मासूम के साथ घर से बाहर निकाल दिया. जिसके बाद पीड़िता रात भर दरवाजे पर बैठी रही जब सुबह मायके वाले पहुंचे तो उसके पति को समझने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं माना जिसके बाद पीड़िता ने थाने में न्याय की गुहार लगाई.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi