S M L

पुरी का केजरीवाल पर तंज, कहा- मेट्रो के चौथे चरण की मंजूरी मिलने के बाद खोलेंगे मिठाई का डिब्बा

पुरी ने कहा, केजरीवाल ने एक साल पहले हमें चौथे चरण को मंजूरी देने का भरोसा दिलाया था. अब हम मिठाई का डिब्बा तभी खालेंगे जब मंजूरी मिलने की दिल्ली सरकार द्वारा औपचारिक घोषणा कर दी जाएगी

Updated On: Oct 31, 2018 04:44 PM IST

Bhasha

0
पुरी का केजरीवाल पर तंज, कहा- मेट्रो के चौथे चरण की मंजूरी मिलने के बाद खोलेंगे मिठाई का डिब्बा
Loading...

आवास एवं शहरी विकास मामलों के राज्यमंत्री हरदीप सिंह पुरी ने मेट्रो रेल के चौथे चरण के लिए दिल्ली सरकार से लंबित मंजूरी के मामले में केजरीवाल सरकार पर तंज कसते हुए कहा है कि ‘अब तो चौथे चरण को मंजूरी मिलने के बाद ही मिठाई का डिब्बा खोला जाएगा.’ पुरी ने बुधवार को मेट्रो की पिंक लाइन (शिव विहार से त्रिलोकपुरी) का उद्घाटन करने के बाद दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत द्वारा मंत्रिमंडल की अगली बैठक में चौथे चरण को मंजूरी देने के आश्वासन पर यह बता कही.

मेट्रो का, 104 किमी की कुल दूरी वाले चौथे चरण का काम अपने लक्ष्य से दो साल पीछे चल रहा है. इसके पीछे चौथे चरण को दिल्ली सरकार की मंजूरी नहीं मिलने को केंद्र सरकार मुख्य वजह बता रही है. पिछले कुछ महीनों में पुरी कई बार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से चौथे चरण को मंजूरी देने का अनुरोध कर चुके है.

उद्घाटन समारोह में गहलोत ने कहा कि केजरीवाल सरकार की मंत्रिमंडल की अगली बैठक में चौथे चरण को मंजूरी दे दी जाएगी. गहलोत ने कहा कि उन्होंने परिवहन सचिव से इस मामले को मंत्रिमंडल की अगली बैठक में पेश करने के लिए कहा है.

मंजूरी के बाद ही खुलेगा का मिठाई का डब्बा

समारोह के बाद पुरी ने कहा, केजरीवाल ने एक साल पहले हमें चौथे चरण को मंजूरी देने का भरोसा दिलाया था. आज और इसके पहले एक अन्य समारोह में दिल्ली सरकार ने चौथे चरण को यथाशीघ्र मंजूरी देने का आश्वासन दिया था. अब हम मिठाई का डिब्बा तभी खालेंगे जब मंजूरी मिलने की दिल्ली सरकार द्वारा औपचारिक घोषणा कर दी जाएगी.

दिल्ली सरकार फरवरी 2016 में 53 हजार करोड़ रुपए की कुल लागत वाले चौथे चरण को अपनी सैद्धांतिक मंजूरी दे चुकी है, लेकिन इस पर राज्य मंत्रिमंडल की मंजूरी भी अनिवार्य है. इसमें दिल्ली सरकार की हिस्सेदारी 14 हजार करोड़ रुपए है.

पुरी ने कहा कि अगर अब भी आप सरकार अपनी बात पर खरी नहीं उतरती है तो दिल्ली की जनता फिर इसका जवाब मांगेगी. उन्होंने कहा कि दिल्ली की अन्य परियोजनाओं में भी केंद्र सरकार अपनी तरफ से वित्तीय मदद की पहल कर चुकी है जिससे दिल्ली वालों को जल्द मूलभूत शहरी सुविधाओं से लैस किया जा सके.

पिंक लाइन के एक हिस्से की हुई शुरुआत

इससे पहले गहलोत ने चौथे चरण को लेकर वित्त विभाग की आपत्तियों को मंजूरी की राह में बड़ी वजह बताते हुए कहा कि वित्त मंत्री और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने विभागीय आपत्तियों को खारिज कर दिया है. इस अवसर पर सिसोदिया भी मौजूद थे.

पिंक लाइन पर त्रिलोकपुरी से शिव विहार के बीच मेट्रो रेल 17.8 किमी दूरी तय करेगी. इसके साथ ही दिल्ली में मेट्रो रेलमार्ग की कुल लंबाई 314 किमी हो गई है. पूरी तरह से एलिवेटेड रेलमार्ग वाले इस खंड पर 15 स्टेशन हैं. ये स्टेशन त्रिलोकपुरी, संजय लेक, ईस्ट विनोद नगर, मयूर विहार फेज दो, मंडावली वेस्ट विनोद नगर, आई पी एक्सटेंशन, आनंद विहार आईएसबीटी, कड़कड़डूमा, कड़कड़डूमा कोर्ट, कृष्णा नगर, ईस्ट आजाद नगर, वेलकम, जाफराबाद, मौजपुर बाबरपुर, गोकुलपुरी, जोहरी एन्क्लेव और शिव विहार हैं.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi