S M L

पिता के लिए छपरा लोकसभा सीट की टिकट क्यों मांग रही थीं तेजप्रताप की पत्नी ऐश्वर्या?

तेजप्रताप के आरेपों के मुताबिक ऐश्वर्या बोलती थीं कि अगर छपरा से मेरे पिता को टिकट नहीं मिला तो तुम से शादी का क्या फायदा

Updated On: Nov 05, 2018 07:10 PM IST

FP Staff

0
पिता के लिए छपरा लोकसभा सीट की टिकट क्यों मांग रही थीं तेजप्रताप की पत्नी ऐश्वर्या?

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने तलाक की अर्जी में पत्नी ऐश्‍वर्या राय पर गंभीर आरोप लगाए हैं. तेजप्रताप ने अपनी अर्ज़ी में लिखा है कि ऐश्वर्या उन पर अपने पिता चंद्रिका राय को छपरा से लोकसभा का टिकट दिलवाने का दबाव बना रही थीं. ऐसे में सवाल यह उठने लगा है कि आखिर बिहार की 40 सीटों में से ऐश्वर्या की नजर छपरा की सीट पर ही क्यों थी और उन्होंने अपने पिता के लिए इसी सीट पर दावा क्यों ठोका?

दरअसल बिहार की छपरा सीट को आरजेडी का गढ़ माना जाता है. इस सीट पर पिछले 40 साल से राजद का ही प्रभुत्व रहा है. छपरा सीट पर जीत की शुरुआत पार्टी के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने वर्ष 1977 में की थी. लालू ने यहीं से पहली बार लोकसभा का चुनाव जीता था. इसके बाद लालू ने साल 2004 और 2009 के लोकसभा चुनाव में भी इस सीट से अपनी जीत को बरकरार रखा. तब लालू प्रसाद यादव ने इस सीट से चुनाव लड़ते हुए 2004 में करीब 60 हजार और 2009 में करीब 52 हजार वोटों के अंतर से जीत हासिल की थी. चूंकि इस इलाके में यादव वोटरों की बाहुल्यता है, ऐसे में पार्टी भी इसे अपना गढ़ मानती है.

पिछले वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में भी मोदी लहर के बीच इस सीट से आरजेडी ने जीत की पुरजोर कोशिश की थी और पार्टी सुप्रीमो लालू ने अपनी पत्नी राबड़ी देवी को इस सीट से चुनाव लड़वाया था लेकिन उनको बीजेपी के राजीव प्रताप रूडी से शिकस्त मिली थी. राबड़ी को इस चुनाव में करीब 41 हजार वोटों से हार मिली. ये तो बात हुई इस सीट से लालू के परिवार और उनकी पार्टी के प्रभुत्व की.

पिता की दावेदारी के लिए बेटी ने ही अपने परिवार में यह मांग कर दी

इस मांग का दूसरा पहलू देखें तो ऐश्वर्या के पिता और बिहार के पूर्व मंत्री चंद्रिका राय का भी लंबे अरसे से इसी संसदीय क्षेत्र में प्रभुत्व रहा है. छपरा के परसा विधानसभा क्षेत्र से वे विधायक रहे हैं और पार्टी को इलाके में मजबूत करते रहे हैं.

चंद्रिका राय के पिता और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री दरोगा प्रसाद राय इसी इलाके से आते थे और उनके परिवार से होने की वजह से इस क्षेत्र में उनकी भी पकड़ रही है. अंदरखाने से जो खबर आई थी उसके मुताबिक लालू परिवार अपनी बहू को ही छपरा सीट से मैदान में उतार सकता था लेकिन इसकी प्लानिंग 2024 के लिए थी क्योंकि अगले साल होने वाले चुनाव के लिए ऐश्वर्या की उम्र इतनी नहीं हो पाती कि उन्हें इस सीट से उम्मीदवारी मिले.

जैसा कि तेजप्रताप ने अपनी पत्नी पर आरोप लगाया है उसके मुताबिक यह लगता है कि ऐश्वर्या यह जानती थीं कि उन्हे चुनाव लड़ने के लिए अभी 5 साल का इंतजार करना होगा ऐसे में उन्होंने एक और दांव खेलते हुए पति से ही पिता के लिए छपरा सीट की मांग कर दी. आरोपों के मुताबिक 'ऐश्वर्या बोलती थीं कि अगर छपरा से मेरे पिता को टिकट नहीं मिला तो तुम से शादी का क्या फायदा. इसके लिए वह लगातार दबाव बना रही थीं.'

पार्टी से जुड़े सूत्र भी बताते हैं कि लालू परिवार से रिश्ता होने के बाद भी चंद्रिका राय आरजेडी के उस ग्रेड में नहीं आ पाए थे कि उनकी टिकट की दावेदारी को कोई मान सके. ऐसे में पिता की दावेदारी के लिए बेटी ने ही अपने परिवार में यह मांग कर दी.

मालूम हो कि तेजप्रताप यादव ने शुक्रवार को अपनी शादी के पांच महीने के बाद ही पत्‍नी ऐश्‍वर्या से तलाक लेने के लिए पटना सिविल कोर्ट में अर्जी लगाई है. इस मामले की अगली सुनवाई 29 नवंबर को होगी. ऐश्वर्या से तलाक के फैसले के बाद लालू फैमिली और पूर्व सीएम दारोगा प्रसाद राय के परिवार में उथल-पुथल मच गई है.

तेजप्रताप यादव की शादी बिहार के पूर्व सीएम दारोगा प्रसाद राय की पोती और पूर्व मंत्री चंद्रिका राय की बेटी ऐश्वर्या राय के साथ 12 मई 2018 को हुई थी. इस शादी में लगभग 50 हजार लोग शामिल हुए थे.

(न्यूज़ 18 के लिए अमरेंद्र कुमार की रिपोर्ट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi