S M L

नोएडा-गाजियाबाद में क्यों लगी हैं ट्रकों की लंबी कतारें?

नोएडा में ट्रकों के इतनी बड़ी संख्या में आने के बाद ट्रैफिक पुलिस भी परेशान नजर आ रही है. ट्रैफिक पुलिस को इन ट्रकों को मैनेज करने में पसीने छूट रहे हैं.

Updated On: Nov 12, 2018 09:39 PM IST

Ravishankar Singh Ravishankar Singh

0
नोएडा-गाजियाबाद में क्यों लगी हैं ट्रकों की लंबी कतारें?

नोएडा को दक्षिणी दिल्ली से जोड़ने वाले डीएनडी फ्लाई ओवर पर पिछले 5-6 दिनों से ट्रकों का लंबा जाम लगा हुआ है. पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण (ईपीसीए) के निर्देश के बाद इन ट्रकों को दिल्ली में प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है. ईपीसीए ने प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए दिल्ली में भारी वाहनों के प्रवेश पर 12 तारीख तक रोक लगा रखी है. नोएडा से सटे कालिंदी कुंज, गाजीपुर बोर्डर, नोएडा के सेक्टर 11 से सटे चिल्ला गांव और डीएनडी फ्लाई ओवर से दिल्ली जाने वाली मालवाहक डीजल गाड़ियां बोर्डर पर हीं रोक दी जा रही हैं.

दिल्ली के बॉर्डर पर रुकी इन गाड़ियों की बीते रविवार को ही दिल्ली में एंट्री होनी थी, लेकिन शनिवार को ईपीसीए ने एक बार फिर से दिल्ली में प्रवेश के लिए दो दिन का समय बढ़ा दिया. इससे हालात ऐसे हो गए हैं कि दिल्ली जाने वाली अधिकांश गाड़ियां नोएडा और गाजियाबाद के कई इलाकों में रुकने लगीं. क्योंकि ये गाड़ियां रोड पर ज्यादा देर तक रुक नहीं सकती हैं इसलिए ट्रैफिक पुलिस इन गाड़ियों को दूसरी जगह भेजने में लगी हुई है.

trucks (1)

नोएडा-गाजियाबाद में रुकी ये गाड़ियां बिहार, पश्चिम बंगाल, झारखंड और दूसरे कई राज्यों से आई हुई हैं. बॉर्डर पर रुकी इन गाड़ियों में चावल, स्क्रैप और धान लदा हुआ है. सबसे बड़ी दिक्कतों का सामना तो ट्रकों के साथ चलने वाले ड्राइवर और हेल्परों को करना पड़ रहा है. ये लोग पिछले 5-6 दिनों से ठीक से खाना भी नहीं खा पा रहे हैं.

नोएडा के डीएनडी फ्लाई ओवर पर भी पिछले 5-7 दिनों से 500 गाड़ियों का लंबा जमावड़ा लगा हुआ है. कई गाड़ियां ऐसी हैं जो 7 दिनों से हैं तो कई दो-तीन पहले ही यहां आई हैं. नोएडा पुलिस के द्वारा कई गाड़ियों को डीएनडी फ्लाई ओवर से हटा कर दूसरी जगहों पर शिफ्ट भी किया जा रहा है.

trucks (1)

फ़र्स्टपोस्ट हिंदी ने डीएनडी फ्लाई ओवर पर जाकर स्थिति का जायजा लिया. बिहार के मुजफ्फरपुर से कबाड़ लेकर आए एक ट्रक ड्राइवर लक्ष्मण यादव कहते हैं, ‘रविवार दो बजे से ही मैं डीएनडी पर रुका हुआ हूं. नोएडा पुलिस कहती है कि आपको 15 नवंबर तक दिल्ली में प्रवेश की इजाजत नहीं दी जाएगी. आपलोग यहां से गाड़ी किसी और स्थान पर ले जाइए. मुझे पीरागढ़ी जाना है. हमलोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.’

यही हाल अमूमन सभी ट्रक ड्राइवरों और हेल्परों का हो रहा है. कोलकाता से ट्रक में चावल भर कर आए अरविंद मुकुंदी कहते हैं, ‘मैं पिछले 5 दिनों से यहां पर रुका हूं. पुलिसवाले आ कर हमलोगों को धमका कर चले जाते हैं. पुलिसवाले कहते हैं कि यहां से कहीं और चले जाओ. मुझे आजादपुर मंडी जाना है. हमारे साथ 6 और लोग हैं और सभी लोग भूखे-प्यासे यहां किसी तरह रह रहे हैं. मेरी परेशानियों को कोई भी समझ नहीं रहा है.’

यूपी के मैनपुरी के ट्रक ड्राइवर मनोज कुमार कहते हैं, ‘पुलिस हमलोगों को धमका रही है. मेरी ट्रक में धान भरा हुआ है. आज दिन में तो पुलिस ने लाठीचार्ज तक कर दिया. कुछ पुलिसवाले आकर कहते हैं कि कुछ पैसा खर्च करो तो रात को दिल्ली में प्रवेश करा देंगे.’

trucks (1)

नोएडा में ट्रकों की इतनी बड़ी संख्या में आने के बाद ट्रैफिक पुलिस भी परेशान नजर आ रही हैं. ट्रैफिक पुलिस को इन ट्रकों को मैनेज करने में काफी पसीने छूट रहे हैं. नोएडा ट्रैफिक पुलिस का कहना है कि दिल्ली से बाहर जानी वाली सभी गाड़ियों को तो ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे के रास्ते बाहर रवाना किया जा रहा है, लेकिन कई ट्रकों को दिल्ली जाना है इसलिए उन गाड़ियों की भीड़ अब नोएडा में लगने लगी हैं. इससे हमलोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. इसके बावजूद हमलोग हालात को नियंत्रण करने के लिए वैकल्पिक मार्ग तलाशने का काम कर रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi