S M L

माल्या से नीरव मोदी तक: इतना कमजोर क्यों हो गया है बैंकिंग सिस्टम

नीरव मोदी से पहले विजय माल्या भी घोटाले के मामले में देश छोड़कर फरार हो चुका है

Updated On: Feb 15, 2018 04:56 PM IST

Ravishankar Singh Ravishankar Singh

0
माल्या से नीरव मोदी तक: इतना कमजोर क्यों हो गया है बैंकिंग सिस्टम

देश के डायमंड कारोबार का जाना-माना नाम नीरव मोदी भी अब देश छोड़ कर भाग गया है. किंगफिशर एयरलाइंस के मालिक विजय माल्या के बाद नीरव मोदी ऐसा दूसरा भारतीय कारोबारी है, जो हाल-फिलहाल में देश छोड़ कर भागा है. नीरव मोदी के फरार होने के बाद देश की मोदी सरकार को एक बार फिर से 11 हजार 400 करोड़ रुपए डूबने की आशंका सताने लगी है.

हीरा कारोबारी नीरव मोदी पर आरोप है कि इसने अपने फर्म के साख पत्र (लेटर ऑफ अंडरटेकिंग) को बार-बार जारी कर के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) को हजारों करोड़ रुपए का चूना लगाया. नीरव मोदी और उनसे जुड़ी कुछ आभूषण बनाने वाली कंपनियां इस मामले में आरोपी हैं.

नीरव मोदी और उससे जुड़े लोगों पर आरोप है कि बैंक अधिकारियों की मिलीभगत कर साल 2017 में विदेशों से सामान मंगाने के नाम पर बैंकिंग सिस्टम में जानकारी डाले बिना आठ एलओयू जारी करवा दिया गया, जिससे बैंक को करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ.

इस घोटाले में मोदी का साथ पंजाब नेशनल बैंक का ही एक पूर्व डिप्टी मैनेजर ने दिया था. इस पूर्व डिप्टी मैनेजर पर आरोप है कि फर्जी दस्तावेज यानी एलओयू देकर विदेश में भारतीय बैंकों से लोन दिलवाया गया.

पंजाब नेशनल बैंक ने कहा है कि साल 2011 से लेकर अब तक 11 हजार 400 करोड़ रुपए का घोटाला हुआ है.

गौरतलब है कि पिछले साल ही शराब कारोबारी विजय माल्या देश छोड़ कर ब्रिटेन भाग गया था. विजय माल्या पर देश के कई बैंकों के हजारों करोड़ रुपए बकाया हैं. पिछले एक साल से भारतीय जांच एजेंसियां विजय माल्या को भारत लाने को लेकर खूब प्रयास कर रही हैं लेकिन जांच एजेंसियों की कोशिश बावजूद विजय माल्या भारत के हाथ नहीं आ रहा है. अब ऐसे में भारतीय जांच एजेंसियों के लिए डायमंड कारोबारी नीरव मोदी को भी भारत लाना किसी मुसीबत से कम नहीं है.

nirav modi pnb scandal accussed

नीरव मोदी घोटाला खुलने से दो महीने पहले ही मुंबई के अपने घर से फरार हो गया था. मुंबई पुलिस को दो महीने पहले का एक सीसीटीवी फुटेज मिला है, जिसमें नीरव मोदी सूटकेस के साथ अपने घर से बाहर निकलते हुए देखा गया. ताजा घटनाक्रमों के बाद मुंबई पुलिस मुंबई एयरपोर्ट सहित देश के दूसरे कई और एयरपोर्ट्स की सीसीटीवी फुटेज खंगालने में लगी हुई है. भारतीय जांच एजेंसियों के द्वारा आशंका जाहिर की जा रही है कि नीरव मोदी भी ब्रिटेन या फिर किसी ऐसे देश में शरण ले लिया है, जहां से प्रत्यार्पण कर भारत लाना मुश्किल होता है.

दूसरी तरफ गुरुवार से ही देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी सीबीआई और ईडी नीरव मोदी के कई ठिकानों पर छापेमारी कर रही है. मुंबई के कई शोरूम और उसके दफ्तरों के दर्जनों ठिकाने पर छापेमारी चल रही है.

जानकारों का मानना है कि भारतीय बैंकिंग सेक्टर के इतिहास में बड़े घोटालों में से एक पीएनबी फ्रॉड घोटाला केस की जांच को अंजाम तक पहुंचाना बहुत मुश्किल भरा कदम साबित होगा. सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) के पास भले ही जांच की जिम्मेदारी आ गई हो, लेकिन मामले को अंजाम तक पहुंचाना आने वाले समय में किसी चुनौती से कम नहीं साबित होने वाला है. दोनों ही एजेंसियों पर पहले से ही कई मामलों की जांच की जिम्मेदारी है. विजय माल्या के मामले में तो सीबीआई और ईडी को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में यह मामला आने के बाद सीबीआई के लिए परेशानी और बढ़ सकती है.

ये भी पढ़ें: मेघालय चुनाव: स्वतंत्र उम्मीदवारों की भीड़ से नए वोटर्स चुनेंगे राज्य का भविष्य

बीते बुधवार को ही इस घोटाले का पर्दाफाश हुआ था. पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) प्रबंधन ने ही 11 हजार 400 करोड़ रुपए के धोखाधड़ी वाले कुछ ट्रांजैक्शन का पता लगाया था. पीएनबी ने यह जानकारी तुरंत ही बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को दे दी.

इधर पीएनबी ने कहा है कि कुछ चुनिंदा ग्राहकों को लाभ पहुंचाने के लिए उनके सहमति से लेन-देन किया गया है. इस लेन-देन के आधार पर ही कुछ चुनिंदा बैंकों ने कुछ ग्राहकों को विदेशों में कर्ज दिया है. मामला सामने आने के बाद हमने ईडी के पास जांच के लिए भेज दिया है. इसमें जो भी दोषी होंगे उस पर कार्रवाई की जाएगी.’

पीएनबी ने बॉम्बे स्टॉक एक्सेंज को बताया है कि मुंबई की शाखाओं में ही यह धांधली हुई है. इतने बड़े घपले की जांच कर रही पीएनबी की आंतरिक कमेटी ने अपने ही दो अधिकारियों पर एफआईआर दर्ज कराई है साथ ही 10 कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है. पीएनबी में घोटाले की जानकारी मिलने के बाद उसके शेयरों में भारी गिरावट देखी जा रही है.

हीरा कारोबारी नीरव मोदी पहले से भी एक मामले में सीबीआई जांच का सामना कर रहा है. पिछली 31 जनवरी को सीबीआई ने हीरा कोराबारी नीरव मोदी, उसकी पत्नी, भाई और कुछ सहयोगियों के खिलाफ पीएनबी के साथ घोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था. नीरव मोदी पर 280 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी और ठगी का केस चल रहा है. वहीं नए मामले में ईडी ने भी धनशोधन का मामला दर्ज किया है.

ईडी ने 280 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी और ठगी के मामले में भी नीरव मोदी और अन्य पर मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. ईडी ने यह मामला सीबीआई के एफआईआर के आधार पर दर्ज किया है.

साल 2016 में हीरा कोरोबारी नीरव मोदी फोर्ब्स की सूची में 46वें सबसे अमीर भारतीय घोषित किए गए थे. नीरव की गिनती देश के सबसे रईस लोगों में होती है. ज्वैलरी क्षेत्र के जाने-माने नाम नीरव मोदी गुजरात के रहने वाले हैं.

नीरव मोदी के पिता भी हीरा कारोबार से संबंध रखते थे. नीरव भारत में उस समय चर्चा में आए जब साल 2010 में मोदी की कंपनी फायर स्टार डायमंड का गोलकुंडा नेकलेस 16 करोड़ 29 लाख रुपए में बिका.

भारत में ही नहीं विदेशों में भी नीरव मोदी डायमंड कारोबार का जाना पहचाना नाम है. नीरव मोदी भारत के एकमात्र ऐसे डायमंड कारोबारी हैं, जिनके डिजाइन किए हुए गहने हॉलीवुड की हस्तियों से लेकर देश के बड़े उद्योगपति की पत्नियां पहनती हैं. 48 साल के नीरव मोदी डायमंड कैपिटल कहे जाने वाला देश बेल्जियम के एंटवर्प शहर से भी ताल्लुक रखते हैं.

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

नीरव मोदी की तरह ही उनका एक कारोबारी मित्र मेहुल चौकसी भी घोटाले का आरोपी है. मेहुल के बारे में कहा जाता है कि वह नीरव मोदी के रिश्तेदार है. मेहुल चौकसी भी ज्वैलरी की दुनिया का बड़ा नाम है. मेहुल की कंपनी गीतांजली ज्वैलर्स का सालाना टर्नओवर हजारों करोड़ों में है. गीतांजली ज्वैलर्स दुनियाभर में हीरा का निर्यात करती है. गीतांजली ज्वैलर्स का चैन भारत में ही नहीं दुनिया के कई देशों अमेरिका, ब्रिटेन, इटली, बेल्जियम, चीन, जापान और कई देशों में है. मेहुल चौकसी पर भी सीबीआई ने मामला दर्ज कर लिया है. ऐसी खबर आ रही है मेहुल चौकसी भी फरार हो गए हैं.

इधर इस घटना से चिंतित वित्त मंत्रालय ने देश के सभी बैंकों से इस प्रकार की घटनाओं के संबंध में रिपोर्ट मांगी है. बैंकिंग क्षेत्र के जानकारों का कहना है कि यह मामला और भी बड़ा हो सकता है, क्योंकि इस मामले में एक से अधिक बैंक शामिल हैं. वित्तिय सेवा विभाग ने इसलिए सभी बैंकों से बैंकों से धोखाधड़ी की जल्दी रिपोर्ट देने को कहा है.

ये भी पढ़ें: कर्नाटक चुनाव: 'चिकन' में जीत तलाश रही बीजेपी ने वोटरों को किया निराश

दूसरी तरफ बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूत और विनिमय बोर्ड(सेबी) भी इस मामले की जांच कर सकता है. हालांकि, अभी तक इस पर कोई आधिकारिक बयान नहीं आए हैं. इसके बावजूद भी क्योंकि मामला बॉम्बे स्टॉक एक्सेंज से जुड़ा हुआ है इसलिए सेबी कारोबारियों के आंकड़े का विश्लेषण कर सकती है. इस समय पंजाब नेशनल बैंक की शेयर बाजार में कुल कीमत लगभग साढ़े 35 हजार करोड़ रुपए की है. बुधवार से जब से यह मामला सामने आया है पीएनबी के शेयर में भारी गिरावट दर्ज की जा रही है. इस घोटाले के सामने आने के बाद पीएनबी शेयर धारकों के लगभग 3 हजार करोड़ रुपए डूब गए हैं.

पंजाब नेशनल बैंक देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक है. देश में पंजाब नेशनल बैंक के लगभग 10 करोड़ खाताधारक हैं. 6 हजार 941 ब्रांचेज पूरे देश में इस समय ग्राहकों के हितों का ध्यान रख रही है. ऐसे में इस मामले के सामने आने के बाद ग्राहकों के लिए चिंता का कारण बना हुआ है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi