S M L

'सिर्फ जाकिर नाइक पर कार्रवाई क्यों, आसाराम पर क्यों नहीं?'

प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट के अपीलीय ट्रिब्यूनल ने ‘यथास्थिति’ का फैसला देते हुए ईडी को जाकिर नाइक की अन्य संपत्तियों को जब्त करने से रोक दिया है

FP Staff Updated On: Jan 09, 2018 10:39 PM IST

0
'सिर्फ जाकिर नाइक पर कार्रवाई क्यों, आसाराम पर क्यों नहीं?'

चर्चित इस्लामी उपदेशक जाकिर नाइक मामले में इंटरपोल द्वारा रेड कॉर्नर नोटिस को खारिज करने के बाद एनआईए को लगे झटके के बाद, इसी मामले में ईडी को भी झाड़ लगी है. प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट के अपीलीय ट्रिब्यूनल के चेयरमैन जस्टिस मनमोहन सिंह ने जाकिर नाइक की ईडी द्वारा संपत्ति जब्त करने के मामले को स्वयंभू आध्यात्मिक गुरु आसाराम बापू से जोड़ते हुए ईडी की कार्रवाई पर सवाल खड़े किए.

ईडी का प्रतिनिधित्व करने वाले से जस्टिस मनमोहन सिंह ने पूछा कि ‘मैं ऐसे 10 बाबाओं का नाम ले सकता हूं, जिनके पास 10,000 करोड़ से भी अधिक की संपत्ति है और उनके ऊपर क्रिमिनल केस भी चल रहा है. क्या आपने इनमें से किसी के भी खिलाफ कोई कार्रवाई की है? क्या आपने आसाराम बापू के ऊपर कोई कार्रवाई की है?’

ट्रिब्यूनल के चेयरमैन को लगता है कि ईडी ने जाकिर नाइक के मामले में कुछ अधिक ही तेजी दिखाई है, जबकि पिछले 10 सालों से आसाराम की संपत्ति के ऊपर कोई कार्रवाई नहीं की है. ट्रिब्यूनल ने ईडी को इसलिए भी झाड़ लगाई कि जाकिर नाईक के संपत्तियों को क्यों जब्त किया गया जबकि चार्जशीट में इससे संबंधित चार्ज नहीं लगाए गए हैं.

'ईडी नाइक के खिलाफ नहीं पेश कर पाई है ठोस सबूत'

जब ईडी के वकील ने कहा कि नाइक अपने भाषणों से युवाओं को भड़का रहे थे तो जस्टिस सिंह ने कहा कि ईडी इसपर कोई प्रथम दृष्टया सबूत पेश करने में नाकाम रहा है और न ही किसी ऐसे ‘गुमराह युवा’ का बयान नहीं ले पाई है जो यह कहे कि वो उनके भाषणों से प्रभावित होकर कोई गैर-कानूनी काम किया हो.

जस्टिस सिंह ने कहा कि यह लगता है कि ईडी ने अपनी सुविधानुसार नाइक के भाषणों को चुना और उसके 99 फीसदी भाषणों पर ध्यान नहीं दिया. जज ने ईडी के वकील को कहा कि ‘क्या आपने उन भाषणों को पढ़ा है जिनका चार्जशीट में जिक्र किया गया है? मैंने उनमें कई को सुना और मैं यह कह सकता हूं कि इसमें कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है.’

ट्रिब्यूनल ने इसके बाद ‘यथास्थिति’ का फैसला देते हुए ईडी को जाकिर नाइक की अन्य संपत्तियों को जब्त करने से रोक दिया है. ईडी अब जाकिर नाइक के चेन्नई में चल रहे स्कूल और मुंबई में एक कमर्शियल संपत्ति को जब्त नहीं कर पाएगी. ईडी अबतक नाइक की 3 संपत्तियों को जब्त कर चुकी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi