S M L

आखिर क्यों शराबी होते जा रहे हैं बिहार के चूहे, गटक जाते हैं लाखों की शराब!

सवाल उठता है कि क्या बिहार के चूहे शराब के इतने शौकीन हैं कि गोदाम में रखी भारी मात्रा में शराब अकेले ही पी जाते हैं?

Updated On: Oct 04, 2018 12:20 PM IST

FP Staff

0
आखिर क्यों शराबी होते जा रहे हैं बिहार के चूहे, गटक जाते हैं लाखों की शराब!

बिहार में पूरी तरह से शराबबंदी लागू है. ऐसे में अगर कहीं भी शराब पाई जाती है तो उसे जब्त करने का प्रावधान है. यहां तक बात समझ में आती है लेकिन जब्त की हुई शराब को जिन गोदामों में रखा जाता है, वहां से उनका स्टाक घटता रहता है और जब इसके पीछे की वजह पूछी जाती है तो अधिकारी कहते हैं कि चूहे शराब पी गए या चूहों ने शराब नष्ट कर दी.

ऐसे में सवाल उठता है कि क्या बिहार के चूहे शराब के इतने शौकीन हैं कि गोदाम में रखी भारी मात्रा में शराब अकेले ही पी जाते हैं?, क्योंकि यह पहली बार नहीं है. बीते साल भी जब्त की गई 9 लाख लीटर शराब चूहों ने पी ली थी या नष्ट कर दी थी. यह बात भी अधिकारियों के जरिए ही सामने आई थी.

हाल ही में बिहार के कैमूर जिले में स्थित एक गोदाम में स्टोर की गई गए बीयर की करीब 200 केन के गायब होने के मामले में भी अधिकारियों ने वही बात दोहराई जो हर साल कहते हैं. अधिकारियों का कहना था कि चूहे इस घटना के लिए जिम्मेदार हैं.

भभुआ की एसडीएम अनुपम कुमारी ने बताया था कि सोमवार को स्थानीय गोदाम में रखी गई जब्त बीयर की केन को नष्ट किए जाने के समय प्लास्टिक से सील केन जगह जगह कटा हुआ मिला. केन देखने से ऐसा लगता है कि चूहे ने इसे कुतर दिया होगा.

वहीं दूसरी ओर जिला आबकारी अधीक्षक प्रदीप कुमार ने बताया कि बीयर के 200 केन में छेद होने से उनमें रिसाव हो गया. हालांकि, स्पष्ट रूप से कुछ कह पाना अभी जल्दबाजी होगी. पिछले साल भी जब्त की गई करीब 9 लाख लीटर शराब चूहे द्वारा नष्ट कर दिए जाने की बात सामने आई थी.

हाल ही में बिहार के गोपालगंज में एसपी ने थानेदार को शराब बेचते रंगे हाथों गिरफ्तार किया था. गोपालगंज एसपी राशिद जमां ने बैकुंठपुर थानाध्यक्ष लक्ष्मीनारायण महतो को गिरफ्तार किया था और एक एएसआई सुधीर कुमार को हिरासत में लिया था.

थानाध्यक्ष द्वारा कुछ लीटर शराब को नष्ट किया गया था फिर करीब 40 लाख रुपए की शराब बेचने की तैयारी थी लेकिन वह एसपी के हत्थे चढ़ गए. यह तो एक मामला था. न जाने ऐसे कितने मामले होंगे जिनमें कोई पकड़ में नहीं आता लेकिन शराब गटकने का आरोप बिहार के बेचारे चूहों पर लगता है.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi