S M L

कौन थे आदि शंकराचार्य जिनका अनुसरण पीएम मोदी ने किया

सनातन परंपरा के विकास और धर्म के प्रचार-प्रसार में आदि शंकराचार्य का महान योगदान है. उन्होंने चार मठों की स्थापना की थी

Updated On: Apr 18, 2018 10:35 PM IST

FP Staff

0
कौन थे आदि शंकराचार्य जिनका अनुसरण पीएम मोदी ने किया
Loading...

बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में वेस्टमिंस्टर सेंट्रल हॉल में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया. इस कार्यक्रम का नाम 'भारत की बात, सबके साथ' था. जानकारी के मुताबिक इस कार्यक्रम में करीब 2,000 लोग मौजूद थे.

अपने संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री ने आदि शंकराचार्य का जिक्र किया. पीएम मोदी ने कहा 'मैं आदि शंकराचार्य के सिद्धांत पर जीता हूं'. आइए जानते हैं कि आदि शंकर कौन थे...

सनातन परंपरा के विकास और धर्म के प्रचार-प्रसार में आदि शंकराचार्य का महान योगदान है. उन्होंने चार मठों की स्थापना की थी. आदि शंकराचार्य अद्वैत वेदांत के प्रेरणा, संस्कृत के विद्वान, उपनिषद व्याख्याता और सनातन धर्म सुधारक थे. इन्होंने पूरे भारत की यात्रा की और इनके जीवन का ज्यादातर समय देश के उत्तरी हिस्से में बीता.

आदि शंकराचार्य का जन्म केरल के कालडी ग्राम में हुआ था. सिर्फ 8 साल की उम्र में वह 8 साल की उम्र में वह मोक्ष की प्राप्ति के लिए घर छोड़कर गुरु की खोज में निकल पड़े थे.

भारत भ्रमण के दौरान शंकराचार्य ने संन्यासियों के विभिन्न समूहों को एक सूत्र से जोड़ने के लिए चार मठों की स्थापना की-

ज्योतिषपीठ, बद्रीनाथ- उत्तराखण्ड (हिमालय में स्थित) गोवर्धनपीठ, पुरी- उड़ीसा शारदापीठ, द्वारिका- गुजरात श्रृंगेरीपीठ, मैसूर- कर्नाटक

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi