S M L

कौन हैं भारत के अगले चीफ जस्टिस 'रंजन गोगोई'? जान लें उनके बारे में ये बड़ी बातें

चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के बाद अब जस्टिस गोगोई इस पद पर नियुक्त होने जा रहे हैं, 03 अक्टूबर 2018 को वह चीफ जस्टिस पद की शपथ लेंगे

Updated On: Oct 01, 2018 04:18 PM IST

FP Staff

0
कौन हैं भारत के अगले चीफ जस्टिस 'रंजन गोगोई'? जान लें उनके बारे में ये बड़ी बातें

सुप्रीम कोर्ट के वर्तमान चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सुर्खियों में छाए चार जजों में से एक जस्टिस रंजन गोगोई भी थे. जस्टिस गोगोई असम के पूर्व मुख्यमंत्री केशव चंद्र गोगोई के बेटे हैं. चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के बाद अब जस्टिस गोगोई इस पद पर नियुक्त होने जा रहे हैं. 03 अक्टूबर 2018 को वह चीफ जस्टिस पद की शपथ लेंगे. इसके साथ ही वह पूर्वोत्तर भारत से इस पद पर नियुक्त होने वाले पहले जज बन जाएंगे. वह देश के 46वें चीफ जस्टिस होंगे.

आपको बता दें कि 18 नवंबर, 1954 को जन्मे जस्टिस रंजन गोगोई ने डिब्रूगढ़ के डॉन बोस्को स्कूल से अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की और दिल्ली विश्वविद्यालय के सेंट स्टीफेंस कॉलेज से इतिहास की पढ़ाई की. वर्ष 1978 में गुवाहाटी हाईकोर्ट से वकालत शुरू करने वाले जस्टिस गोगोई साल 2001 में गुवाहाटी हाईकोर्ट के जज बने थे. इसके बाद उन्हें 12 फरवरी, 2011 को पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया था. वर्ष 2012 में उन्हें सुप्रीम कोर्ट का जज बनाया गया था और इसके बाद वह चुनाव सुधार से लेकर आरक्षण सुधार तक के कई अहम फैसलों में शामिल रहे.

आइए जानते हैं उनके द्वारा लिए गए कुछ अहम फैसले-

जाटों को केंद्रीय सेवाओं में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के दायरे से बाहर करने वाली पीठ में जस्टिस रंजन गोगोई शामिल थे.

जस्टिस रंजन गोगोई ने असम में घुसपैठियों की पहचान के लिए राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) बनाने का दिया निर्णय दिया था.

सौम्या मर्डर मामले में ब्लॉग लिखने पर सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज मार्कंडेय काटजू को अदालत में जस्टिस रंजन गोगोई ने तलब किया था.

जस्टिस रंजन गोगोई ने जेएनयू छात्रनेता कन्हैया कुमार के मामले में एसआईटी गठन करने से साफ इनकार कर दिया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi