S M L

कौन है अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर डील का मास्टरमाइंड क्रिश्चियन मिशेल जेम्स?

अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर सौदे में कथित बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल जेम्स को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से प्रत्यर्पित करके मंगलवार देर रात भारत लाया गया

Updated On: Dec 05, 2018 10:16 AM IST

FP Staff

0
कौन है अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर डील का मास्टरमाइंड क्रिश्चियन मिशेल जेम्स?

अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर सौदे में कथित बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल जेम्स को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से प्रत्यर्पित करके मंगलवार देर रात भारत लाया गया. सत्तारूढ़ बीजेपी ने गांधी परिवार का जिक्र करते हुए कहा कि यूपीए काल के एक मामले में प्रत्यर्पण भारत के लिए कूटनीतिक जीत है और इससे कांग्रेस के 'प्रथम परिवार' के लिए 'बड़ी मुसीबत' पैदा हो सकती है. तो आखिर कौन है क्रिश्चियन मिशेल जेम्स जिनका प्रत्यर्पण भारत में एक बड़ा मुद्दा बना हुआ है.

- क्रिश्चियन मिशेल जेम्स अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर सौदे में मुख्य आरोपी है. मिशेल मूलरूप से ब्रिटेन का एक कंसल्टेंट है.

- अगस्ता वेस्टलैंड ने एयरफोर्स के अधिकारियों और यूपीए सरकार के लोगों को प्रभावित कर कंपनी को डील दिलाने में मदद करने के लिए मिशेल की नियुक्ति की थी.

यह भी पढ़ें- अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर डील: बिचौलिए मिशेल को CBI दुबई से प्रत्यर्पित कर भारत लाई

- सीबीआई के अनुसार, मिशेल को फरवरी, 2017 में यूएई में गिरफ्तार किया गया था. कथित तौर पर सीबीआई ने प्रत्यर्पण के लिए निवेदन किया था जिसके बाद यह गिरफ्तारी हुई थी.

- गिरफ्तारी के बाद मिशेल ने अपने वकील और बहन के जरिए सनसनीखेज खुलासा किया था. मिशेल के मुताबिक, सीबीआई ने उनसे दवाब बनाकर यह कबूल करावाया कि वे विमान सौदे के मोलभाव (नेगोशिएशन) के लिए यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी से 2010 में मिले थे. लेकिन मिशेल ने इस मुलाकात से इनकार कर दिया और कहा कि मेरी सोनिया गांधी से जीवन में कभी मुलाकात नहीं हुई है.

- मिशेल के मुताबिक, सीबीआई ने वादा किया कि सोनिया गांधी से मिलने की बात मान लेने पर उन्हें क्लीन चिट दे दी जाएगी. हालांकि सीबीआई ने इन बातों से इनकार कर दिया था.

2015 में मिशेल के खिलाफ जारी हुआ था गैर जमानती वारंट

नई दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में सीबीआई मामले देखने वाले विशेष जज ने 24 सितंबर 2015 को मिशेल के खिलाफ गैर जमानती गिरफ्तारी वारंट जारी किया था.

यह भी पढ़ें- क्या है अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर घोटाला, जानें सब कुछ

इस वारंट के आधार पर इंटरपोल ने उनके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया और फरवरी 2017 में उन्हें दुबई में गिरफ्तार कर लिया गया. गिरफ्तारी के बाद से ही मिशेल दुबई की जेल में थे. दुबई की अपील कोर्ट में मिशेल के वकीलों ने उन्हें भारत प्रत्यर्पित करने को लेकर दो आपत्तियां दाखिल की थीं जिन्हें कोर्ट ने खारिज कर दिया.

मिशेल पर आरोप है कि उन्होंने वायु सेना के तत्कालीन प्रमुख एसपी त्यागी और उनके परिजन समेत दूसरे अभियुक्तों के साथ मिलकर इसे अंजाम दिया. अधिकारियों ने वीवीआईपी लोगों के लिए खरीदे जा रहे हेलीकॉप्टर में कुछ तकनीकी बदलाव करने में कथित तौर पर अपनी आधिकारिक स्थिति का दुरुपयोग किया. इन बदलावों से कंपनी को सीधे तौर पर फायदा पहुंचाने का आरोप है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi