S M L

गुजरात में बिहार-यूपी के लोगों पर हिंसा: नीतीश कुमार बोले- किसी के साथ कोई पक्षपात नहीं होगा

मॉब लिंचिंग के डर से ये लोग अब भागने को मजबूर हो गए हैं, कुछ लोगों के धमकाने के बाद अब तक करीब 1500 से ज्यादा लोग पलायन कर चुके हैं

Updated On: Oct 08, 2018 02:16 PM IST

FP Staff

0
गुजरात में बिहार-यूपी के लोगों पर हिंसा: नीतीश कुमार बोले- किसी के साथ कोई पक्षपात नहीं होगा

पिछले दिनों गुजरात में 14 महीने की बच्ची के साथ रेप के मामले में बिहार के एक शख्स को गिरफ्तार करने के बाद राज्य का माहौल हिंसक होता जा रहा है. गुजरात में रह रहे बिहार, यूपी और एमपी के लोगों को लगातार परेशान किया जा रहा है. मॉब लिंचिंग के डर से ये लोग अब भागने को मजबूर हो गए हैं. कुछ लोगों के धमकाने के बाद अब तक करीब 1500 से ज्यादा लोग पलायन कर चुके हैं.

इस मामले के बाद से राज्य से डर के मारे पलायन कर रहे यूपी और बिहार के लोगों की चिंता करते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपना बयान जारी किया. नीतीश कुमार ने कहा- मैंने बीते रविवार को गुजरात के सीएम से बात की है. हम उनसे लगातार जुड़े हुए हैं. वह हालात की निगरानी कर रहे हैं. जिसने भी इस तरह का जघन्य अपराध किया है, उसे कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए. उनके साथ कोई पक्षपात नहीं होगा.

इस पूरे मामले पर डीजीपी शिवानंद झा ने बताया कि हिंसा से गुजरात के 6 जिले प्रभावित हैं. मेहसाना और साबरकांठा में ज्यादा प्रभाव दिखाई दे रहा है. यहां 42 केस दर्ज किए गए हैं और 342 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

पीड़ित ठाकोर समुदाय से संबंधित है इसलिए पिछले कुछ दिनों से ठाकोर समुदाय द्वारा अहमदाबाद, मेहसाना, गांधीनगर, पाटन, साबरकांठा, बनासकांठा और अरावली जिले में यूपी बिहार और दूसरे राज्यों से गुजरात आकर काम करने वाले मजदूरों पर हमले किए जा रहे हैं. राज्य सरकार द्वारा साबरकांठा, अरावली और मेहसाना में 100 इंडस्ट्री यूनिटों को अतिरिक्त सुरक्षा दी गई है. पिछले हफ्ते से हो रही हिंसा के बाद से पुलिस लगातार पेट्रोलिंग कर रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi