S M L

यौन उत्पीड़न संबंधी वीडियो पर रोक लगाने में मदद करेगी व्हाट्सएप

कंपनी के इंजीनियर सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाई गई विशेषज्ञ समिति के सामने इनक्रिप्शन तकनीक समेत सभी तकनीकी पहलुओं का प्रदर्शन करेंगे

Updated On: Apr 13, 2017 10:40 PM IST

Bhasha

0
यौन उत्पीड़न संबंधी वीडियो पर रोक लगाने में मदद करेगी व्हाट्सएप

अमेरिकी कंपनी व्हाट्सएप इंक ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट से कहा कि वह सोशल मीडिया वेबसाइटों पर यौन उत्पीड़न संबंधी वीडियो पर रोक लगाने के तरीके खोज रही समिति की मदद करेगी.
सुप्रीम कोर्ट ने व्हाट्सएप इंक को इस मामले में एक पक्ष बनाया है. व्हाट्सएप ने जस्टिस मदन बी लोकुर और जस्टिस दीपक गुप्ता की पीठ से कहा कि उसके सदस्य अदालत द्वारा बनाई गयी समिति के साथ बैठक करेंगे और इस तरह के वीडियो को रोकने के लिए तकनीकी समाधान खोजेंगे.
अमेरिकी कंपनी का पक्ष रख रहे वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने कहा, ‘व्हाट्सएप इंक अपने लोगों को समिति के साथ बैठक करने और सबकुछ विस्तार से बताने के लिए भेज रहे हैं.’
सिब्बल ने यह भी कहा कि कंपनी के इंजीनियर सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाई गई विशेषज्ञ समिति के सामने इनक्रिप्शन तकनीक समेत सभी तकनीकी पहलुओं का प्रदर्शन करेंगे.
याचिकाकर्ता ने की थी व्हाट्सएप को पक्ष बनाने की मांग  
उन्होंने अदालत को बताया कि कंपनी के सदस्य दो सप्ताह के अंदर समिति के साथ बैठक करेंगे जिसके बाद दोनों पक्षों के वकील ने बैठक के लिए 27 अप्रैल की तारीख तय की.
सुप्रीम कोर्ट ने 11 अप्रैल को व्हाट्सएप्प को नोटिस जारी कर मामले में उसका जवाब मांगा था.
याचिकाकर्ता की वकील अपर्णा भट्ट ने सुप्रीम कोर्ट के सामने मामले का उल्लेख करते हुए व्हाट्सएप्प इंक को मामले में पक्ष बनाने की मांग की थी.
अदालत ने 22 मार्च को समिति बनाई थी जिसमें केंद्र और इंटरनेट कंपनियों के प्रतिनिधि हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi