S M L

जेल में मोबाइल के साथ पकड़े गए कैदी, तो बढ़ेगी सजा

उपकरण जेल में पहुंचाने वाले संबंधियों, अधिकारियों और कर्मचारियों को दोषी पाए जाने पर तीन साल की सजा या 3,000 रुपए के जुर्माने की सजा होगी

Bhasha Updated On: Jul 23, 2018 10:21 PM IST

0
जेल में मोबाइल के साथ पकड़े गए कैदी, तो बढ़ेगी सजा

जेल में कैदियों का धड़ल्ले से मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर लगाम लगाने के लिए पश्चिम बंगाल सरकार ने पुराने कानूनों में संसोधन किया है. नए संसोधित कानून के मुताबिक अब ऐसे अपराध पर तीन साल की सजा का प्रावधान है.

जेलों में कैदियों को मोबाइल के इस्तेमाल से रोकने के लिए सोमवार को राज्य सरकार ने पश्चिम बंगाल सुधार गृह सेवा संशोधन विधेयक 2018 को पारित कर दिया. इसके तहत जेल के भीतर वायरलेस संचार उपकरण या सिम कार्ड, मेमोरी कार्ड, बैटरी या चार्जर आदि की बरामदगी या इस्तेमाल पर तीन साल तक जेल की सजा का प्रावधान है.

वायरलेस संचार उपकरण में मोबाइल फोन, निजी कंप्यूटर, वाई-फाई, टैबलेट, लैपटॉप या पामटॉप शामिल हैं. संशोधित कानून के मुताबिक दोषी पाए जाने पर अपराधी पहले से चल रही सजा पूरी होने के बाद तीन साल की सजा और काटेगा. कानून के मुताबिक वायरलेस संचार उपकरण को जेल के भीतर लाने और ले जाने में मदद पहुंचाने वालों के खिलाफ भी ठोस कार्रवाई होगी.

उपकरण जेल में पहुंचाने वाले संबंधियों, अधिकारियों और कर्मचारियों को दोषी पाए जाने पर तीन साल की सजा या 3,000 रुपए के जुर्माने की सजा होगी. साथ ही कुछ मामलों में अपराधी साबित होने पर दोनो दंडों का एक साथ सामना करना पड़ सकता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi