Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

पश्चिम बंगाल में बाल विवाह का शिकार हुईं 40 फीसदी लड़कियां: सर्वे

बाल विवाह का सबसे कम प्रतिशत पंजाब और केरल में दर्ज किया गया.

Bhasha Updated On: Oct 13, 2017 11:16 AM IST

0
पश्चिम बंगाल में बाल विवाह का शिकार हुईं 40 फीसदी लड़कियां: सर्वे

सुप्रीम कोर्ट में सौंपे गए एक सर्वेक्षण के नतीजों में दावा किया गया कि बाल विवाह का शिकार हुई सबसे ज्यादा लड़कियां पश्चिम बंगाल में हैं.

नाबालिग पत्नी से यौन संबंध को बलात्कार करार देने का ऐतिहासिक फैसला सुनाने वाले सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में इस सर्वे का हवाला देते हुए कहा कि बाल विवाह का शिकार हुई 40.7 फीसदी लड़कियों का ये आंकड़ा भारत के पूर्वी राज्य बंगाल के ग्रामीण इलाकों में बढ़कर 47 फीसदी तक हो जाता है.

रिपोर्ट में कहा गया कि बाल विवाह का सबसे कम प्रतिशत पंजाब और केरल में दर्ज किया गया. इन दोनों राज्यों में यह प्रतिशत कुल 7.6 है.

राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण 2015-16 के मुताबिक, बाल विवाह का शिकार हुई लड़कियों के मामले में दूसरे और तीसरे पायदान पर बिहार (39 फीसदी) और झारखंड (38 फीसदी) हैं.

जज एम बी लोकुर और जज दीपक गुप्ता की पीठ के समक्ष यह रिपोर्ट सौंपी गई थी. इस पीठ ने फैसला सुनाया है कि 18 साल से कम उम्र की पत्नी के साथ यौन संबंध बनाना आईपीसी के तहत अपराध होगा और इसके जुर्म में 10 साल तक की जेल की सजा सुनाई जा सकती है.

सुप्रीम कोर्ट के फैसले की रोशनी में काफी अहमियत रखने वाले इस आंकड़े के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 2015-16 में बाल विवाह का शिकार हुई लड़कियों की संख्या 16 फीसदी थी जबकि 2005-06 में यह आंकड़ा 22.7 फीसदी था.

रिपोर्ट के मुताबिक, राजस्थान, महाराष्ट्र और गुजरात में बाल विवाह का शिकार हुई लड़कियों की संख्या क्रमश: 35.4 फीसदी, 25 फीसदी और 24.9 फीसदी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi