S M L

विवेक तिवारी हत्याकांड: सीसीटीवी फुटेज से हुआ खुलासा, झूठ बोल रही है पुलिस

सीसीटीवी फुटेज के सामने आने के बाद मौके पर विवेक के साथ मौजूद सना का दावा सही पाया गया

Updated On: Oct 01, 2018 11:01 AM IST

FP Staff

0
विवेक तिवारी हत्याकांड: सीसीटीवी फुटेज से हुआ खुलासा, झूठ बोल रही है पुलिस

लखनऊ के विवेक तिवारी हत्याकांड मामले में अब एक नया मोड़ आ गया है. इस मामले में एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया है जिसने पुलिस की तरफ से किए जा रहे दावों को गलत साबित कर दिया है. दरअसल विवेक तिवारी की हत्या के आरोपी कॉन्सटेबल प्रशांत चौधरी ने कहा था कि गाड़ी खड़ी हुई थी. लेकिन सीसीटीवी फुटेज में विवेक तिवारी की गाड़ी चलती हुई पाई गई.

आरोपी प्रशांत चौधरी ने दावा किया था कि विवेक ने उसके ऊपर तीन बार गाड़ी चढ़ाने की कोशिश की, लेकिन तस्वीरें बताती हैं कि गाड़ी पहले चल रही थी. यानी मौके पर विवेक के साथ मौजूद सना का दावा सही पाया गया है.

क्या था सना का दावा?

सना ने एफआईआर में कहा था कि 'आज रात हम और हमारे सहकर्मी ASM साहब रात में लगभग डेढ़ बजे जब घर वापस आ रहे थे, तो अचानक कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी और संदीप कुमार, कार के सामने आ गए. ASM साहब डर की वजह से और महिला साथ होने के कारण गाड़ी आगे बढ़ाकर चलने की कोशिश करने लगे, उसी समय मोटर साइकिल से एक सिपाही उतरा, जो पीछे बैठा हुआ था और उसके पास एक डंडा था और आगे बैठे हुए प्रशांत चौधरी ने शीशे से अपनी पिस्टल सटाकर जान से मारने के उद्देश्य से गोली चलाई, जिससे उनकी मौत हो गई.'

वहीं इस मामले पर विवेक तिवारी की पत्नी का कहना है कि मेरे पति के बारे में तमाम तरह की उल्टी सीधी बाते फैलाई जा रही है जबकि उनकी बेगुनाही के सारे सबूत मिल रहे हैं. उन्होंने इंसाफ की मांग करते हुए कहा कि केस की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए.

एफआईआर में विवेक की पत्नी ने क्या कहा?

विवेक की पत्नी ने सना के बयान के आधार पर अपनी एफआईआर में लिखा कि 'ठुड्डी में गोली लगी और आधा किलोमीटर बाद गाड़ी सब वे के खंभे से जाकर टकरा गई. इस बीच वहां जो पुलिसवाले आए, उन्होंने न किसी को फोन करने दिया और न ही किसी का फोन उठाने दिया और जबरदस्ती सादे कागज पर मुझसे हस्ताक्षर करवा लिए और बाद में पुलिस के उच्चाधिकारियों के दबाव में मुझसे जबरदस्ती बोल-बोलकर उसी पन्ने पर लिखवाया भी गया. हालांकि मैं उस वक्त डरी हुई थी, इसलिए जो उन्होंने कहा लिखती चली गई.' फिलहाल, इस मामले में एसआईटी जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

सीएम ने दिलाया मदद का भरोसा

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना से रविवार को फोन पर बात की थी. सीएम ने आश्वासन दिया था कि सरकार पीड़ित परिवार की हरसंभव मदद करेगी. उन्होंने यह भी कहा था कि परिवार जब भी चाहे उनसे मुलाकात कर सकता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi