S M L

लद्दाख में चीन और भारत के सैन्य अधिकारियों की होगी मुलाकात

बैठक में लद्दाख स्थित भारत-चीन सीमा पर शांति बरकरार रखने के बारे में बातचीत होने की संभावना है

Updated On: Aug 16, 2017 07:21 PM IST

Bhasha

0
लद्दाख में चीन और भारत के सैन्य अधिकारियों की होगी मुलाकात

भारत और चीन के सैन्य अधिकारियों की बुधवार को लेह के चुशूल क्षेत्र में मुलाकात होने वाली है. इस मुलाकात से एक दिन पहले ही भारतीय सीमा रक्षकों ने लद्दाख में पेंगांग झील के तट के नजदीक चीनी सैनिकों के भारतीय क्षेत्र में घुसने के प्रयासों को विफल कर दिया.

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि बैठक में लद्दाख स्थित भारत-चीन सीमा पर शांति बरकरार रखने के बारे में बातचीत होने की संभावना है.

पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के सैनिकों ने कल सुबह छह बजे से नौ बजे के बीच दो क्षेत्रों...फिंगर फोर एवं फिंगर फाइव में भारतीय भूभाग में प्रवेश करने का प्रयास किया. किन्तु सतर्क भारतीय सैनिकों ने उनके दोनों प्रयासों को विफल कर दिया.

चीनी सैनिक फिंगर फोर क्षेत्र में प्रवेश करने में कामयाब हो गए, जहां से उन्हें वापस भेजा गया. यह क्षेत्र भारत एवं चीन के बीच विवाद का कारण है क्योंकि दोनों इस भूभाग पर अपना दावा करते हैं. कुछ पथराव भी हुआ जिससे दोनों पक्षों के लोगों को कुछ मामूली चोट आई.

लद्दाख की कल की घटना के बारे में पूछे जाने पर रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने कहा, ‘यह ऐसा विषय नहीं है कि सरकार को टिप्पणी करनी पड़े.’ पेंगांग झील के दो तिहाई हिस्से पर चीन का नियंत्रण है जबकि इसके एक तिहाई भाग पर भारत का नियंत्रण है.

लद्दाख की घटना डोकलाम में भारत एवं चीनी सेनाओं के बीच तनातनी की पृष्ठभूमि में हो रही है. यह क्षेत्र भारत-भूटान-चीन के बीच में पड़ता है और इसे लेकर तनातनी तीसरे माह में प्रवेश कर गई है.

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि तनातनी के बावजूद भारतीय सैनिकों एवं पीएलए सैनिकों के बीच सीमा स्थित विभिन्न जगहों पर मिठाइयों का आदान प्रदान हुआ. इनमें डोकलाम भी शामिल है.

स्वाधीनता दिवस एवं गणतंत्र दिवस के अवसर पर मिठाइयों के आदान प्रदान की परंपरा पिछले कई सालों से चली आ रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi