Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

तोगड़िया ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- मेरे एनकाउंटर की साजिश हुई

तोगड़िया ने कहा, खुफिया एजेंसियों ने उन डॉक्टरों को डराना शुरू किया जिन्हें मैंने तैयार किया है. मेरे खिलाफ कानून भंग के केस ढूंढ ढूंढकर निकलना शुरू किया गया

FP Staff Updated On: Jan 16, 2018 01:07 PM IST

0
तोगड़िया ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- मेरे एनकाउंटर की साजिश हुई

अहमदाबाद में वीएचपी नेता प्रवीण तोगड़िया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर केंद्र सरकार पर निशाना साधा. तोगड़िया ने कहा कि उनकी आवाज दबाने की कोशिश हो रही है. मीडिया से बातचीत के दौरान वे रो पड़े. उन्होंने कहा, मेरी आवाज दबाने की कोशिश हो रही है. मैं हिंदुओं की आवाज उठा रहा हूं और उनकी एकता के लिए काम कर रहा हूं.

उन्होंने कहा, कछ समय से मेरी आवाज दबाने का प्रयास होता रहा. मैं हिंदू एकता के लिए काम करता हूं. राम मंदिर, गौ हत्या कानून और कश्मीर में हिंदुओं के लिए आवाज उठाता हूं. लेकिन खुफिया एजेंसियों ने उन डॉक्टरों को डराना शुरू किया जिन्हें मैंने तैयार किया है. मेरे खिलाफ कानून भंग के केस ढूंढ ढूंढकर निकालना शुरू किया गया. तोगड़िया ने कहा, जो लोग उनके पीछ पड़े हैं उनका सबूतों के साथ पर्दाफाश करूंगा.

राजस्थान की CM से भी हुई बात

तोगड़िया ने भावुक आवाज में कहा, मैं सुबह पूजा-पाठ कर रहा था. इस दौरान एक व्यक्ति मेरे कमरे में घुसा और कहा कि आप यहां से तुरंत निकल जाइए. आपका एनकाउंटर करने की तैयारी है. मैंने इस बात का ध्यान नहीं दिया. मैंने देखा कि बाहर दो पुलिस वाले थे. थोड़ी देर में फोन आया कि राजस्थान पुलिस का काफिला 16 पुलिस स्टेशनों से निकला है. गुजरात पुलिस उनका सहयोग कर रही है. ऐसे में मैं तुरंत वहां से निकला. पुलिसवालों से कहा कि मैं कार्यालय छोड़कर जा रहा हूं. वहां से नीचे उतरा और ऑटो पकड़ा. उन्होंने कहा कि इस दौरान मैंने राजस्थान के मुख्यमंत्री और गृहमंत्री से भी बात की. लेकिन उन्होंने इस संबंध में किसी तरह की जानकारी होने से साफतौर पर इनकार कर दिया. इसके बाद मैंने अपना फोन स्विच ऑफ कर दिया.

तोगड़िया ने कहा, इसके बाद मैंने वकीलों से बात की और अरेस्ट वारंट रद करवाने की बात की. वकीलों ने कहा कि अदालत का आदेश कैंसिल नहीं होगा. इसके बाद मैंने तय किया कि मैं खुद इसके खिलाफ कोर्ट जाउंगा और फ्लाइट पकड़ने एयरपोर्ट के लिए निकला. लेकिन मेरी तबीयत बिगड़ गई और मैं बेहोश हो गया. इसके बाद क्या हुआ मुझे नहीं पता चला.

क्या है राजस्थान का मामला?

राजस्थान की गंगापुर कोर्ट ने 10 साल पुराने दंगे के एक मामले को लेकर तोगड़िया के खिलाफ अरेस्ट वॉरंट जारी किया था. कई बार जमानती वारंट जारी होने के बावजूद जब वह कोर्ट में पेश नहीं हुए तो कोर्ट ने उनके खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी कर दिया. इसी वॉरंट को तामील कराने के लिए राजस्थान पुलिस सोमवार को अहमदाबाद आई थी, लेकिन तोगड़िया के न मिलने पर उसे बैरंग लौटना पड़ा.

तोगड़िया सोमवार की सुबह से गायब थे. वीएचपी की ओर से दावा किया गया था कि राजस्थान पुलिस उन्हें उठाकर ले गई, लेकिन सूत्रों के मुताबिक तोगड़िया को न तो राजस्थान पुलिस ने गिरफ्तार किया और न ही गुजरात की पुलिस ने. देर रात उनके बारे में जानकारी हुई. बेहोशी की हालत में उन्‍हें अहमदाबाद के शाहीबाग इलाके के चंद्रमणि अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

तोगड़िया को लेकर सोमवार दिनभर हंगामा चला. मिली जानकारी के मुताबिक शुगर डाउन होने के चलते वह बेहोश हो गए थे. उन्हें संजीवनी 108 एंबुलेंस से अस्पताल पहुंचाया गया.

क्या कहा तोगड़िया ने

-मेरी आवाज दबाने की कोशिश हो रही है

-मैं हिंदुओं की आवाज उठा रहा हूं

-मेरे एनकाउंटर की साजिश रची जा रही है

-अहमदाबाद में पुलिस की टीम मुझे पकड़ने आई थी

-प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान भावुक हुए तोगड़िया ने कहा,  पुलिस राजनीतिक दबाव में न आए.

-उन्होंने पूछा क्या वे अपराधी हैं, फिर उनके कमरे का सर्च वारंट क्यों?

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi