S M L

आगरा हिंसा: 14 गिरफ्तार, 200 से ज्यादा के खिलाफ मामला दर्ज

बजरंग दल, विश्व हिन्दू परिषद और अन्य संगठनों के कार्यकर्ताओं ने की थी बदसलूकी

Bhasha Updated On: Apr 24, 2017 08:38 AM IST

0
आगरा हिंसा: 14 गिरफ्तार, 200 से ज्यादा के खिलाफ मामला दर्ज

आगरा के सदर बाजार और फतेहपुर सीकरी थानों में रविवार हुई हिंसा के दौरान पुलिसकर्मियों के साथ बदसलूकी और संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के सिलसिले में विभिन्न दक्षिणपंथी संगठनों से जुड़े 14 लोगों को गिरफ्तार किया गया और 200 से ज्यादा लोगों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ.

बजरंग दल, विश्व हिन्दू परिषद और अन्य संगठनों के कार्यकर्ताओं ने रविवार को अपनी मांगों को लेकर एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी सहित अन्य पुलिसकर्मियों से बदसलूकी की और पथराव किया. वे लोग अल्पसंख्यक समुदाय के कुछ लोगों की कथित प्रताड़ना के आरोप में बंद 5 लोगों की रिहाई की मांग कर रहे थे.

पुलिस उपमहानिरीक्षक महेश मिश्रा ने बताया, रविवार को हुई हिंसा के सिलसिले में हमने 14 लोगों को गिरफ्तार किया है.

पुलिस अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने दक्षिणपंथी समूहों के 30 सदस्यों और 200 से ज्यादा अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. कथित रूप से इन लोगों ने कल सदर बाजार थाने में कल तोड़फोड़ की है.

इनपर लगे आरोपों में दंगा, अवैध तरीके से एकत्र होना, डकैती, सरकारी कर्मचारी को अपनी ड्यूटी करने से रोकना और आगजनी कर नुकसान पहुंचाना शामिल है. फतेहपुर सीकरी पुलिस ने सोमवार सुबह फ्लैग मार्च भी निकाला.

फतेहपुर सीकरी में रविवार दो समूहों के बीच हुए झगड़े के बाद कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया था. इसके बाद दक्षिणपंथी समूहों के सदस्य हिरासत में लिए गए लोगों की रिहाई की मांग करते हुए थाने में जमा होने लगे.

इस दौरान भीड़ ने एक वरिष्ठ अधिकारी सहित कुछ पुलिसकर्मियों के साथ बदसलूकी की और बाइक क्षतिग्रस्त कर दी. हिन्दुत्व संगठन के सदस्यों और भाजपा कार्यकर्ताओं ने जब पथराव और पुलिसकर्मियों के साथ धक्का-मुक्की शुरू की तो, हिरासत में लिए गए लोगों को फतेहपुर सीकरी थाने से सदर बाजार थाना लाया गया.

भीड़, सदर बाजार थाने के बाहर इकट्ठा हो गई और हिरासत में लिए गए पांच लोगों को छोड़ने की मांग करते हुए एक उपनिरीक्षक की पिटाई कर दी तथा एक बाइक को आग लगा दी.

इन प्रदर्शनकारियों के साथ भाजपा के एक विधायक भी कथित रूप से शामिल थे. हालांकि सूचना है कि संभवत: वह हिंसा शुरू होने से पहले ही मौके से चले गए थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi