S M L

विनीत जोशी बने राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी के पहले डीजी

यह एजेंसी सीबीएसई, एआईसीटीई और अन्य निकायों द्वारा उच्च शिक्षण संस्थानों में दाखिले के लिए ली जाने वाली प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करेगी

Updated On: Mar 30, 2018 08:49 PM IST

Bhasha

0
विनीत जोशी बने राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी के पहले डीजी

सीबीएसई द्वारा आयोजित की जाने वाली बोर्ड परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक होने को लेकरउठे विवाद के बीच सरकार ने वरिष्ठ नौकरशाह विनीत जोशी को राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) का महानिदेशक नियुक्त किया. यह एजेंसी सीबीएसई, एआईसीटीई और अन्य निकायों द्वारा उच्च शिक्षण संस्थानों में दाखिले के लिए ली जाने वाली प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करेगी.

कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग द्वारा जारी एक आदेश में कहा गया है कि 1992 बैच के मणिपुर कैडर के आईएएस अधिकारी जोशी को पांच साल के लिए पद पर नियुक्त किया गया है.

वित्त मंत्री अरूण जेटली ने वर्ष 2017-18 के अपने बजट भाषण में एनटीए गठित करने की घोषणा की थी. इसका गठन उच्च शिक्षण संस्थानों के लिए सभी प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करने के लिए स्वायत्त और आत्मनिर्भर संगठन के तौर पर किया गया है.

एनटीए के गठन को पीएम मोदी ने दी थी मंजूरी 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पिछले साल नवंबर में एनटीए के गठन को मंजूरी दी थी. एनटीए के गठन से विभिन्न प्रवेश परीक्षाओं में बैठने वाले तकरीबन 40 लाख छात्रों को फायदा होगा.

इससे सीबीएसई, एआईसीटीई और अन्य निकायों को इन प्रवेश परीक्षाओं के आयोजन से मुक्ति मिलेगी और छात्रों की अभियोग्यता, बुद्धि और समस्या का हल करने की क्षमता का आकलन करने के लिए कठिनाई के स्तर का मानकीकरण होगा और विश्वसनीयता आएगी.

मंत्रिमंडल ने इसकी संरचना को जो मंजूरी दी थी उसके अनुसार एनटीए की अध्यक्षता मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा नियुक्त जाने माने शिक्षाविद करेंगे. एनटीए की प्रस्तावित संरचना के अनुसार, ‘मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) महानिदेशक होंगे, जिनकी नियुक्ति सरकार करेगी. एक बोर्ड ऑफ गवर्नर्स होगा जिसके सदस्य उपयोगकर्ता संस्थानों से होंगे.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi