S M L

VHP ने की ताजमहल के गेट को गिराने की कोशिश, कहा- ब्लॉक हो रहा शिव मंदिर का रास्ता

विश्व हिंदू परिषद का दावा है कि ताज महल का पश्चिमी गेट 400 साल पुरान सिद्धेश्वर महादेव मंदिर जाने के रास्ते को ब्लॉक कर रहा है इसलिए इसे तोड़ा जाना चाहिए

FP Staff Updated On: Jun 13, 2018 10:31 AM IST

0
VHP ने की ताजमहल के गेट को गिराने की कोशिश, कहा- ब्लॉक हो रहा शिव मंदिर का रास्ता

विश्व प्रसिद्ध आगरा के ताजमहल को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई है. विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के कार्यकर्ताओं ने ताज महल के पश्चिमी गेट को गिराने की कोशिश की है. उनका दावा है कि यह गेट 400 साल पुरान हिंदू मंदिर जाने के रास्ते को ब्लॉक कर रहा है इसलिए इसे तोड़ा जाना चाहिए.

यह घटना ताज महल के पश्चिमी गेट से 300 मीटर की दूरी (बसई घाट) की है. रिपोर्ट के मुताबिक, एएसआई के लोग गेट के पास टर्नस्टाइल गेट और मेटल डिटेक्टर के लिए फ्रेम तैयार कर रहे थे, तभी वीएचपी के कार्यकर्ता वहां आए और उन्होंने विरोध-प्रदर्शन शुरू कर दिया.

वीएचपी के सदस्यों ने पहले गेट के पास प्रदर्शन किया बाद में इसे तोड़ने की कोशिश की. रिपोर्ट के मुताबिक, वीएचपी के सदस्य हथौड़े और लोहे के रॉड से लैस थे और उन्होंने इससे गेट को तोड़ने की कोशिश की. इस दौरान उन्होंने टर्नस्टाइल गेट को वहां से हटा दिया और एएसआई के खिलाफ नारेबाजी की. पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (एएसआई) ने वीएचपी के 25-30 सदस्यों के खिलाफ दंगे भड़काने का केस दर्ज किया है.

ताज सुरक्षा सर्किल अफसर प्रभात कुमार ने कहा, रविवार को वीएचपी के 25-30 कार्यकर्ता ताज महल के पश्चिमी गेट पर पहुंचे और वहां नए लगे टर्नस्टाइल गेट को तोड़ने की कोशिश करने लगे. प्रदर्शनकारियों के हाथ में हथौड़े और लोग के रॉड थे. उन्होंने गेट को हटा कर फेंक दिया. इस दौरान ताज सुरक्षा की टीम मौके पर पहुंची और उन्हें ऐसा करने से रोका गया.

विश्व हिंदू परिषद का लोगो

विश्व हिंदू परिषद का लोगो

ASI ने 25-30 सदस्यों के खिलाफ दंगा भड़काने का किया केस दर्ज

पुलिस ने वीएचपी कार्यकर्ताओं से बात कर उन्हें सिद्धेश्वर महादेव मंदिर जाने के दूसरे रास्ते के बारे में बताने की कोशिश की. लेकिन वो इसे मानने को तैयार नहीं थे. इस मामले में रवि दुबे, मदन वर्मा, मोहित शर्मा, निरंजन सिंह राठौर, गुल्ला समेत वीएचपी के 25 अज्ञात कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. हालांकि अभी तक किसी भी इसमें गिरफ्तारी नहीं हुई है.

इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए वीएचपी के बृज प्रांत विशेष संपर्क प्रमुख रवि दुबे ने कहा, ताज महल के पश्चिमी दीवार से सटे सिद्धेश्वर महादेव मंदिर को जाने के लिए यह रास्ता है. लेकिन जो गेट बनाया गया है उससे मंदिर जाने का रास्ता प्रभावित हो रहा है. सिद्धेश्वर महादेव मंदिर 400 साल पुराना है. इसका अस्तित्व ताज महल से भी पुराना है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi