विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

पिता से बहुत मेल खाते हैं तेजस्वी यादव के शौक

राजनीतिक बारीकियां सीखने में लगे तेजस्वी यादव के कई शौक पिता लालू यादव की तरह ही हैं

Kanhaiya Bhelari Kanhaiya Bhelari Updated On: May 18, 2017 09:22 AM IST

0
पिता से बहुत मेल खाते हैं तेजस्वी यादव के शौक

लालू यादव फंस तो बहुत पहले ही चुके थे लेकिन सुप्रीम कोर्ट के हालिया निर्णय ने एक बार से उन्हें सुर्खियों में ला दिया है. बीते विधानसभा चुनाव में जीत के अलावा पिछले कुछ सालों में लालू के साथ जो एक अच्छी बात हुई है वो ये है कि उनके पुत्र तेजस्वी यादव उनके राजनीतिक वारिस बन कर उभरे हैं.

लालू के दो पुत्रों में तेजस्वी यादव कुछ ज्यादा ही सुर्खियों में रहते हैं. टीवी चैनलों पर डिबेट हो या भाषण में दक्षता बड़े बेटे तेज प्रताप पर तेजस्वी यादव हमेशा भारी ही दिखाई देते हैं. शायद लालू भी उनकी इस खूबी के पहचान चुके थे इसी वजह से डिप्टी सीएम की कुर्सी तेज प्रताप की बजाए तेजस्वी को थमाई.

राजनीतिक बारीकियां सीखने की ललक

तेजस्वी यादव अपने पिता की ही तरह ही राजनीति को बारीकियों से समझते दिखाई पड़ते हैं. हालांकि भाषणों और मीडिया डिबेट के अलावा बीते डेढ़ सालों की सरकार के दौरान उनकी ज्यादा चर्चा दूसरे कारणों से हुई है. इसमें उनकी शादी के प्रपोजल की भी खबर रही.

अब फिर जब लालू पर कानून का शिकंजा कस रहा है तो बातें होने लगी हैं कि अब पार्टी का मुख्य कर्ता-धर्ता कौन होगा? जब तेजस्वी को लेकर राजनीतिक माहौल गर्म है तो ऐसे समय में उनके दूसरों पक्षों पर भी नजर डाली जानी चाहिए.

तेजस्वी यादव जब किशोरावस्था में तभी से उनकी चर्चा मीडिया में शुरू हो गई थीं. हां, तब इसका कारण राजनीति नहीं थी. तब बिहार में लालू समर्थक तेजस्वी यादव में एक भावी क्रिकेट सितारा देखते थे. हालांकि तेजस्वी को इंटरनेशनल क्रिकेट खेलते देखना चाहने वालों को इच्छा धरी रह गई. क्रिकेट में उनकी अधिकतम कामयाबी ये रही कि वो दिल्ली डेयरडेविल्स के ड्रेसिंग रूम तक ही पहुंच पाए. आईपीएल खेलने की उनकी तमन्ना नहीं पूरी हो पाई.

स्टाइलिश लाइफ स्टाइल के शौकीन

तेजस्वी यादव के बारे में कहा जात है कि वे भव्य जिंदगी जीने में यकीन रखते हैं. महंगे जूते, स्टाइलिश कपड़े उनके शौक है. तेजस्वी यादव पढ़ाई लिखाई में औसत छात्र रहे हैं. उनका लगाव बचपन से ही खेलों के प्रति ही रहा और उन्होंने क्रिकेट में ही अपनी रूचि दिखाई.

लालू यादव के बारे में कहा जाता है कि वो नॉन-वेज खानों के शौकीन रहे हैं. तेजस्वी यादव भी अपने पिता की ही तरह नॉन-वेज खाना ज्यादा पसंद करते हैं.

हालांकि राजनीति में कहा जाता है कि नेताओं की तुनकमिजाजी उनके करियर में नुकसान करती है लेकिन तेजस्वी यादव के छोटे से ही राजनीतिक कार्यकाल में ये देखने को मिला है कि वो तुनकमिजाज है. ऐसा कई बार हुआ जब वो मीडियाकर्मियों के सवालों पर गुस्सा गए. तेजस्वी को नजदीक से जानने वाले ये भी कहते हैं कि वो दूसरों की कही बातों पर बहुत जल्दी भरोसा कर लेते हैं.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi