S M L

इंवेस्टर्स समिट: पीएम मोदी बोले- गुजरात को साउथ कोरिया बनाना चाहता था

समिट में लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमने भारत में टैक्स सिस्टम में सुधार किया है

Updated On: Oct 07, 2018 04:11 PM IST

FP Staff

0
इंवेस्टर्स समिट: पीएम मोदी बोले- गुजरात को साउथ कोरिया बनाना चाहता था

उत्तराखंड दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को देहरादून में इंवेस्टर्स समिट का उद्घाटन किया. इस दौरान मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी पीएम मोदी के साथ मौजूद रहे. इसके बाद समिट में लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमने भारत में टैक्स सिस्टम में सुधार किया है. हम इसे और अधिक तेज और पारदर्शी बनाने की कोशिश कर रहे हैं. दिवालियापन और दिवालियापन संहिता के कारण व्यापार करना आसान हो गया है. बैंकिंग प्रणाली को भी मजबूत किया गया है.

पीएम मोदी ने कहा पोटेंशियल, पॉलिसी और परफॉरमेंस से ही विकास हो सकता है. उत्तराखंड में ऐसे समय में सभी इकट्ठे हुए हैं जब भारत में तेज गति से सामाजिक और आर्थिक बदलाव आ रहा है. हम नए भारत की तरफ बढ़ रहे हैं. मिडिल क्लास का तेजी से विकास हो रहा है. 80 फीसदी युवा शक्ति सामर्थ्य से भरपूर है.

पीएम मोदी ने कहा कि देश विदेश में इंवेस्टर्स के लिए भारत में सबसे अच्छा माहौल बना है. हाल ही में शुरू हुई आयुष्मान योजना से मेडिकल सेक्टर में निवेश की संभावना बढ़ी हैं. आने वाले समय में टू टायर थ्री टायर शहरों में मेडिकल कॉलेज बनेंगे, नए अस्पताल बनेंगे.

पीएम मोदी ने उत्तराखंड सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि त्रिवेंद्र सरकार असीम संभावनाओं को अवसरों में बदलने की कोशिश करते आए हैं. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड देश को उर्जावान बना सकता है.

पीएम मोदी ने कहा कि जब मैं सीएम था तो गुजरात को साउथ कोरिया जैसा बनाना चाहता था. ऐसा इसलिए क्यों कि दोनों की जनसंख्या समान है और दोनों की समुद्री तट पर हैं.

पीएम का कहना है कि उत्तराखंड में अलग SEZ है. जो कि स्पिरिचुअल इको जोन है और स्पेशल इकोनॉमिक जोन से काफी ज्यादा है.

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे नौजवानों में ताकत है. 18 साल की उम्र का महत्व होता है. उत्तराखंड की उम्र 18 साल है. इन 18 साल को बेकार न जाने दें. औषधियों के कारण, मां गंगा के कारण, तपस्या के कारण ऐसी जड़ है.

ये इंवेसर्ट्स समिट 7 और 8 अक्टूबर को चलेगा जिसमें देश विदेश से कंपनिया हिस्सा ले रही हैं. इंवेस्टर्स समिट में अबतक 70 हजार करोड़ से ज्यादा के निवेश किए जाने की बात सामने आई है. सरकार ने 12 सेक्टरों में निवेश की संभावनाएं तलाशने की कोशिश की है. सरकार का खास जोर फूड प्रोसेसिंग, टूरिज्म, हॉर्टिकल्चर पर है. सरकार ने निवेशकों के लिए सिंगल विंडो सिस्टम के साथ ही उन्हें सस्ती बिजली देने की बात कही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi