S M L

दिल्ली के पर्यटक जोड़े की हत्या के मामले में दोषी को सजा-ए-मौत

जिला अदालत ने मुख्य दोषी राजू दास के तीन साथियों को भी इस जुर्म के लिए उम्रकैद की सजा सुनाई है

Bhasha Updated On: Mar 31, 2018 02:15 PM IST

0
दिल्ली के पर्यटक जोड़े की हत्या के मामले में दोषी को सजा-ए-मौत

उत्तराखंड में तीन वर्ष पहले दिल्ली के एक पर्यटक जोड़े की हत्या करने के जुर्म में एक टैक्सी चालक को मौत की सजा सुनाई गई है. कोर्ट ने उसके तीन साथियों को भी उम्रकैद की सजा सुनाई गई है.

अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय न्यायाधीश मोहम्मद सुल्तान ने सजा सुनाते हुए कहा कि इस घटना ने पर्यटक राज्य देवभूमि की छवि कलंकित की. अदालत ने कहा कि मुख्य आरोपी को मौत की सजा और अन्य को उम्रकैद की सजा देने से एक सख्त संदेश दिया गया है.

मुख्य आरोपी राजू दास अपनी बोलेरो गाड़ी में जोड़े को चकराता से टाइगर फॉल लेकर जा रहा था. इस दौरान उसने अपने तीन दोस्तों के साथ मिलकर दंपति को लूटने और उनकी हत्या करने की साजिश रची थी.

अदालत ने राजू दास पर 65 हजार रुपए का जुर्माना और उसके तीन साथियों में से हरेक पर 1 लाख 15 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है.

मोमिता दास और उसका दोस्त अभिजीत पाल दीपावली की छुट्टियां बिताने 22 अक्टूबर, 2014 को चकराता आए थे. मूल रूप से पश्चिम बंगाल का रहने वाले यह जोड़ा दिल्ली में रहता था.

उन्होंने टाइगर फॉल्स जाने के लिए 23 अक्टूबर को राजू दास की टैक्सी किराए पर ली थी. राजू दास के दोस्त गुड्डू, कुंदन और बबलू रास्ते में उन्हें मिले.

टाइगर फॉल्स से लौटते समय टैक्सी चालक और उसके दोस्तों ने मोमिता के साथ दुर्व्यवहार करना शुरू कर दिया. जब अभिजीत ने विरोध किया था तो उन्होंने उसका गला घोंट दिया और उसके शव को नौगांव के समीप एक खाई में फेंक दिया. उन्होंने बाद में मोमिता का भी गला घोंट दिया और उसके शव को यमुना में फेंक दिया.

अदालत ने चारों को हत्या, लूट और साजिश रचने के लिए दोषी ठहराया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
FIRST TAKE: जनभावना पर फांसी की सजा जायज?

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi