S M L

बंदरों ने पत्थर मारकर बुजुर्ग की ली जान, हत्या का केस दर्ज करने की मांग

यूपी के बागपत जिले में गुरुवार को एक 72 साल के व्यक्ति की बंदरों ने पत्थरों से मारकर जान ले ली

Updated On: Oct 20, 2018 06:52 PM IST

FP Staff

0
बंदरों ने पत्थर मारकर बुजुर्ग की ली जान, हत्या का केस दर्ज करने की मांग
Loading...

उत्तर प्रदेश के बागपत से एक हैरतअंगेज मामला सामने आया है. यहां बंदरों ने एक बुजुर्ग शख्स पर पत्थरों से हमला कर उसे मार डाला है. मामला सामने आने के बाद पुलिस किसके खिलाफ कार्रवाई करे इसे लेकर दुविधा में है. मृतक के परिवार ने बंदरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की है.

न्यूज18 की रिपोर्ट के मुताबिक, यूपी के बागपत जिले में गुरुवार को एक 72 साल के व्यक्ति की बंदरों ने पत्थरों से मारकर जान ले ली. बंदरों ने इस शख्स पर एक पेड़ के ऊपर से ईंट और पत्थरों की बौछार कर दी, जो उनके सिर और छाती पर लगी.

पुलिस के मुताबिक, ये वाकया टिकरी गांव का है. बंदरों ने 72 साल के धर्मपाल सिंह पर तब हमला कर दिया, जब वो हवन के लिए सूखी लड़कियां लेने गए थे. तभी बंदरों ने उनके सिर और छाती पर पत्थरों और ईंटों से हमला कर दिया, जिसके चलते उनकी मौत हो गई.

अब पीड़ित परिवार बंदरों के खिलाफ हत्या के मामले में एफआईआर दर्ज करवाना चाहता है. रिपोर्ट के मुताबिक, जब पुलिस ने इस केस को एक एक्सीडेंट के तौर पर रजिस्टर किया तो परिवार ने आपत्ति जताई और अधिकारियों के दखल की मांग की.

धर्मपाल सिंह के भाई ने बताया कि बंदरों ने उनके सिर, छाती और पैरों पर लगभग 20 ईंट गिराए, जिसकी वजह से उनकी मौत हुई. उन्होंने आपत्ति जताई कि अब पुलिस उनकी लिखित शिकायत को एफआईआर के तौर पर दर्ज नहीं कर रही है.

इस पर दोघाट पुलिस स्टेशन के स्टेशन ऑफिसर चितवन सिंह ने अपनी दुविधा जताते हुए कहा, 'हम बंदरों के खिलाफ केस कैसे लिख लें? हमारा मजाक उड़ेगा. मुझे नहीं लगता कि ये तर्कपूर्ण है. हमें इस विचित्र घटना के बारे में जरूर बताया गया था और हमने इसे अपने केस डायरी में दर्ज भी कर लिया था, जिसके बाद हमने पोस्टमार्टम कराया था.'

उत्तर प्रदेश के कई जिलों में बंदरों का आतंक अपने चरम पर है. अभी इसी साल जुलाई में फतेहपुर में कुछ बंदरों ने एक पांच साल के बच्चे पर सुतली बम भरा पॉलिथिन बैग फेंक दिया था. दो अन्य इस घटना में घायल हो गए थे. इसी तरह पूर्वांचल के देवरिया जैसे जिलों में कुछ-कुछ जगहों पर किसान इन बंदरों से तंग आकर खेती नहीं कर पा रहे.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi