S M L

UP के अमरोहा में मुठभेड़ में कॉन्स्टेबल शहीद, बदमाश भी मारा गया

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद सिपाही की पत्नी को 40 लाख रुपए और उनके बुजुर्ग माता-पिता को 10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दिए जाने की घोषणा की. साथ ही उनकी पत्नी को असाधारण पेंशन और परिवार के एक आश्रित को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की गई

Updated On: Jan 28, 2019 10:17 AM IST

FP Staff

0
UP के अमरोहा में मुठभेड़ में कॉन्स्टेबल शहीद, बदमाश भी मारा गया

उत्तर प्रदेश के अमरोहा में रविवार को वॉन्टेड बदमाश के साथ हुई मुठभेड़ में एक सिपाही शहीद हो गया. गोलीबारी में बदमाश भी मारा गया है.

मुरादाबाद जोन के पुलिस महानिरीक्षक (IG) रमित शर्मा ने बताया कि रविवार देर शाम मंडी धनौरा थाने की पुलिस इलाके में गश्त पर जा रही थी. चेकिंग के दौरान हिस्ट्रीशीटर शिव अवतार उर्फ शिविया के साथ इंद्रपुर गांव में नलकूप के पास पुलिस की मुठभेड़ हो गई. इस दौरान बदमाश ने पुलिसवालों पर फायरिंग कर दी. जिसमें सिपाही हर्ष कुमार चौधरी के सीने में गोली लग गई. घायल सिपाही को इलाज के लिए मुरादाबाद के निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई.

एनकाउंटर में बदमाश शिविया भी ढेर हो गया. उस पर दो दर्जन से ज्यादा केस दर्ज थे.

शहीद हर्ष चौधरी ने वर्ष 2016 में पुलिस जॉइन किया था. वो मूल रूप से हाथरस जिले के श्याम नगर कस्बा के रहने वाले थे.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुठभेड़ में शहीद पुलिस कॉन्स्टेबल हर्ष चौधरी की मृत्यु पर शोक जताया है. उन्होंने शहीद पुलिसकर्मी को श्रद्धांजलि देते हुए शोक में डूबे उनके परिवारवालों के प्रति संवेदना व्यक्त की.

मुख्यमंत्री ने शहीद कॉन्स्टेबल की पत्नी को 40 लाख रुपए और उनके बुजुर्ग माता-पिता को 10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दिए जाने की घोषणा की. साथ ही शहीद सिपाही की पत्नी को असाधारण पेंशन और परिवार के एक आश्रित को सरकारी नौकरी देने की भी घोषणा की.

सिपाही हर्ष चौधरी की शहादत से साथी पुलिसकर्मी गमगीन हैं. हर्ष की पत्नी अनु चौधरी पांच महीने की गर्भवती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi