S M L

आतंकवाद के पनाहगार देश को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा: अमेरिका

पाकिस्तान प्रयोजित आतंकवाद के मसले पर टिलरसन ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल से भी मुलाकात की

Updated On: Oct 25, 2017 03:05 PM IST

FP Staff

0
आतंकवाद के पनाहगार देश को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा: अमेरिका

अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने पाकिस्तान को दो-टूक आतंकी देश कहा है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान कई आतंकवादी संगठनों के लिए सुरक्षित पनाहगाह देश बन गया है. इससे वहां की सरकार के स्थायित्व को लेकर ही खतरा पैदा हो गया है.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात के बाद एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि अमेरिका आतंकवाद के पनाहगार देश को बर्दाश्त नहीं करेगा. पाकिस्तान में आतंकवादियों की संख्या बढ़ गई है. हालात ऐसे हो गए हैं कि इन आतंकी संगठनों से खुद पाकिस्तान की सरकार को खतरा पैदा हो गया है. अमेरिका पाकिस्तान की सरकार की स्थिरता को लेकर चिंतित है.

टिलरसन ने आगे कहा कि भारत और अमेरिका स्वाभाविक दोस्त हैं और आतंकवाद के मसले पर उनका देश भारत के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करेगा.

एक सवाल पर उन्होंने आगे कहा कि अमेरिका पाकिस्तान के साथ सकारात्मक तरीके से काम करना चाहता है. ऐसा करना पाकिस्तान के ही हित में है. उन्होंने कहा कि एक दिन पहले इस्लामाबाद में उनकी पाकिस्तानी नेतृत्व के साथ विस्तृत बातचीत हुई. उन्होंने पाक को ट्रंप प्रशासन की इच्छाओं और उम्मीदों के बारे में बता दिया है.

पाकिस्तान प्रयोजित आतंकवाद के मसले पर टिलरसन ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल से भी मुलाकात की. उन्होंने पाकिस्तानी आतंकवाद पर भारत का पूरा सहयोग देने की भी बात कही है.

इससे पहले विदेश मंत्री सुषमा स्वाराज ने टिलरसन के सामने पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद और एच1बी वीजा का मसला उठाया. संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में सुषमा ने कहा कि हाल ही में अफगानिस्तान में हुए आतंकी हमलों से पता चलता है कि आतंकवाद को समर्थन जारी है. पाकिस्तान को इनके खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित करनी होगी.

उन्होंने अमेरिकी विदेश मंत्री से कहा कि आतंकवाद को बढ़ावा देने के कारण पाकिस्तान को वैश्विक स्तर पर अलग-थलग करना होगा. सुषमा ने यह भी कहा कि भारत राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांक ट्रंप का स्वागत करने को लेकर उत्सुक हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi