S M L

26 जनवरी पर अगर डोनाल्ड ट्रंप नहीं आए तो क्या है भारत का प्लान बी?

अगर डोनाल्ड ट्रंप मुख्य अतिथि के तौर पर भारत आते हैं तो ये मोदी सरकार के लिए कूटनीतिक स्तर पर बड़ी कामयाबी होगी

Updated On: Aug 30, 2018 01:03 PM IST

FP Staff

0
26 जनवरी पर अगर डोनाल्ड ट्रंप नहीं आए तो क्या है भारत का प्लान बी?

2019 के गणतंत्र दिवस पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को मुख्य अतिथि के तौर पर न्योता दिया गया है लेकिन अभी भी इस बारे में कोई फैसला नहीं लिया जा सका है. जहां अभी विदेश मंत्रालय ने इसके बारे में कोई सूचना देने से मना कर दिया है वहीं वाइट हाउस की प्रवक्ता सारा सैंडर्स ने कहा, 'मुझे पता है कि इनविटेशन को आगे बढ़ा दिया गया है लेकिन मुझे नहीं लगता कि कोई भी अंतिम फैसला इस मामले में अभी लिया गया है.'

हालांकि, भारत में भी सूत्रों ने पिछले हफ्ते बताया था कि इसके लिए किसी तरह की कोई तारीख नहीं निर्धारित की गई थी. न्यूज़ 18 को सूत्रों ने बताया कि भारत के पास दो विकल्प हैं. मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ 21 से 23 जनवरी के बीच 15 वें प्रवासी भारतीय दिवस के अवसर पर भारत में रहेंगे. इसके बाद वो दूसरे मेहमानों के साथ इलाहाबाद अर्ध कुंभ में शामिल होने के लिए जाएंगे. उम्मीद जताई जा रही है कि वो 25 जनवरी को भारत में ही होंगे. इसलिए उनको गणतंत्र दिवस के मौके पर मुख्य अतिथि बनाया जा सकता है.

दूसरी संभावना है कि अर्जंटीना के राष्ट्रपति मैरिसियो मैक्री भी चीफ गेस्ट बन सकते हैं क्योंकि जनवरी के अंत में वो भी भारत में होंगे. अगले साल मुलाकात के पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नवंबर में G-20 के सम्मेलन में भी मुलाकात करेंगे. G-20 का सम्मेलन अर्जेंटीना में ही होगा.

सूत्रों ने बताया था कि ट्रंप के भारत आने के फैसले के बारे में 6 सितंबर को सूचना मिलने की संभावना थी. लेकिन नवंबर में मध्यावधि चुनावों की संभावना के चलते भारत पूरी तरह से आश्वस्त नहीं है कि जल्दी कोई जवाब मिलेगा. विदेश मंत्रालय अक्टूबर-नवंबर के बीच मुख्य अतिथि के बारे में घोषणा करता है.

बता दें कि भारत ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को मुख्य अतिथि बनने का न्योता दिया था. ट्रंप को ये न्योता इस साल अप्रैल में भेजा गया था. ये कोई पहला मौका नहीं है जब किसी अमेरिकी राष्ट्रपति को गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होने के लिए मुख्य अतिथि के तौर पर बुलाया गया है. इससे पहले साल 2015 में तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा मोदी सरकार के पहले मुख्य अतिथि बने थे.

अगर डोनाल्ड ट्रंप मुख्य अतिथि के तौर पर भारत आते हैं तो ये मोदी सरकार के लिए कूटनीतिक स्तर पर बड़ी कामयाबी होगी.

(न्यूज18 के लिए माहा सिद्दीकी की रिपोर्ट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi