S M L

अमेरिकी वायुसेना प्रमुख ने जाना 'तेजस' की रफ्तार का राज

तेजस भारत में विकसित किया गया जेट लड़ाकू विमान है. इसे हिन्दुस्तान एरोनाटिक्स लिमिटेड (एचएएल) ने बनाया है

Updated On: Feb 03, 2018 04:36 PM IST

FP Staff

0
अमेरिकी वायुसेना प्रमुख ने जाना 'तेजस' की रफ्तार का राज

लड़ाकू विमान तेजस अपनी रफ्तार के लिए पहले ही दुनियाभर में प्रसिद्ध हो चुका है. अब इसके प्रशंसकों में एक और बड़ा नाम जुड़ चुका है. वह हैं अमेरिकी वायुसेना प्रमुख जनरल डेविड एल गोल्डफिन. ऐसा करनेवाले पहले विदेशी वायुसेना प्रमुख भी बन गए हैं.

जनरल डेविड एल गोल्डफिन गुरुवार से भारत की यात्रा पर आए हैं. शनिवार को गोल्डफिन ने जोधपुर एयरबेस से भारत में बने लड़ाकू विमान 'तेजस' से उड़ान भरी.

अमेरिकी वायुसेना प्रमुख गोल्डफिन ने सोशल मीडिया पर अपनी भारत यात्रा का जिक्र किया था. उन्होंने अपने फेसबुक पर लिखा- 'दोनों देशों की वायुसेनाओं के बीच पहले से ही अच्छे संबंध हैं. मैं इसको और मजबूत बनाने की कोशिश करूंगा.'

गोल्डफिन ने भारतीय वायुसेना के सी-17 ग्लोबमास्टर ट्रांसपोर्ट विमान का जिक्र भी किया था. उन्होंने लिखा था, 'भारत दुनिया के दूसरे सबसे बड़े विमान का संचालन करता है. इससे उसके इलाके में सैन्य गतिविधियों को जरूरत के मदद मिली है.'

200 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भर सकता है तेजस 

तेजस भारत में विकसित किया गया जेट लड़ाकू विमान है. इसे हिन्दुस्तान एरोनाटिक्स लिमिटेड (एचएएल) ने बनाया है. एक जुलाई 2016 में इसे वायुसेना में शामिल किया गया.

तेजस की लंबाई 13.2 मीटर और वजन 5680 किलोग्राम है. यह 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से 50 हजार फीट की ऊंचाई तक उड़ान भर सकता है. तेजस लेजर गाइडेड बम से हमला करने में भी सक्षम है.

इसके पहले नवंबर 2017 में सिंगापुर के रक्षा मंत्री क्लाइकोंडा एयरबेस पर 'तेजस' से उड़ान भर चुके हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi