S M L

UP: बेटे की मौत पर इंसाफ नहीं मिला तो मुस्लिम परिवार ने अपनाया हिंदू धर्म

धर्म परिवर्तन करने वाले लोगों ने एसडीएम को इस संबंध में शपथपत्र भी सौंपे है. जिलाधिकारी ने इसकी पुष्टि भी की

Updated On: Oct 03, 2018 09:46 AM IST

Bhasha

0
UP: बेटे की मौत पर इंसाफ नहीं मिला तो मुस्लिम परिवार ने अपनाया हिंदू धर्म

उत्तर प्रदेश के बागपत में एक मुस्लिम परिवार ने हिंदु धर्म अपना लिया है. बताया जा रहा है कि परिवार ने पुलिस के रवैये से निराश होकर ऐसा किया.

हिंदू युवा वाहिनी (भारत) की देखरेख में मंगलवार को धर्मगुरु ने हवन कराकर 13 लोगों को विधिवत रूप से हिंदू धर्म स्वीकार कराया. उधर, धर्म परिवर्तन करने वाले लोगों ने एसडीएम को इस संबंध में शपथपत्र भी सौंपे है. जिलाधिकारी ने इसकी पुष्टि भी की.

बागपत के जिलाधिकारी ऋषिरेंद्र कुमार ने बताया कि बड़ौत तहसील में कुछ लोगों ने स्वेच्छा से धर्म परिवर्तन के शपथ पत्र दिए हैं. हत्या के एक मामले की जांच से पीड़ित लोग संतुष्ट नहीं थे. पुलिस ने इस मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं.

क्यों थे पुलिस की जांच से निराश?

युवा हिंदू वाहिनी(भारत) के प्रदेश अध्यक्ष शौकेंद्र खोखर ने मंगलवार को बताया कि छपरौली थाने के बदरखा निवासी अख्तर पिछले 6-7 महीने से बागपत कोतवाली क्षेत्र के निवाड़ा गांव के खुब्बीपुरा मोहल्ला में रह रहे हैं. अख्तर का आरोप है कि कई महीने पहले उसके बेटे गुलहसन की हत्या कर उसे आत्महत्या का रूप देने के लिए शव फांसी पर लटका दिया गया था. बार-बार गुहार के बावजूद पुलिस ने भी इसे जांच में आत्महत्या मान लिया. बागपत कोतवाली पुलिस से उन्हें न्याय नहीं मिला.

सोमवार को अख्तर परिवार के साथ तहसील पहुंचा और एसडीएम को शपथ पत्र दिया. शपथ पत्र में उसने कहा है कि उसके परिवार के सभी सदस्य अपनी मर्जी से हिंदू धर्म स्वीकार कर रहे हैं. उन्होंने अपने नाम भी बदल लिए हैं.

युवा हिंदू वाहिनी(भारत) के खोखर के अनुसार मंगलवार सुबह बदरखा गांव में हवन और हनुमान चालीसा का पाठ हुआ. इसमें विधि-विधान के साथ मुस्लिम परिवार के 13 लोंगो ने हिंदू धर्म स्वीकार किया. इनमें अख्तर अली, नफीसा, जाकिर, दिलशाद, नौशाद और इरशाद और अन्य परिवार के लोग शामिल है.

वहीं बागपत के पुलिस अधीक्षक शैलेष कुमार पांडे ने कहा कि कुछ मुस्लिमों के धर्म परिवर्तन किए जाने की जानकारी मिली है. वह इस मामले की जांच करा रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi