S M L

UP Board Results 2018: मातृभाषा हिंदी में फेल हुए 11 लाख से ज्यादा छात्र

नकल के खिलाफ सख्ती से 11 लाख से अधिक परीक्षार्थियों ने बीच में ही परीक्षाएं छोड़ दी थीं

Updated On: Apr 30, 2018 02:11 PM IST

FP Staff

0
UP Board Results 2018: मातृभाषा हिंदी में फेल हुए 11 लाख से ज्यादा छात्र

योगी आदित्यनाथ सरकार में यूपी बोर्ड की परीक्षाओं में नकल के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की गई. इसका नतीजा यह हुआ कि इस साल हाईस्कूल में फेल होने वाले छात्रों की संख्या 6.02 प्रतिशत तक बढ़ गई. इतना ही नहीं इंटरमीडिएट में फेल होने वाले छात्र 10.19 फीसदी तक बढ़ गए.

गौर करने वाली बात यह है कि 10वीं और 12वीं में इस बार 11 लाख से ज्यादा छात्र मातृभाषा हिंदी में फेल हुए हैं. इनमें 3,38,776 और हाई स्कूल में 7,81,276 छात्र हिंदी में फेल हुए.

आंकड़े बताते हैं कि रिजल्ट में पिछले दास साल में इतनी कमी आई है. इस साल इंटर का रिजल्‍ट 72.43 प्रतिशत रहा है, जबकि 2008 में इंटर का रिजल्‍ट सबसे खराब 65.05 प्रतिशत रहा था. 2009 से 2017 तक इंटर का रिजल्‍ट 79.52 से लेकर 92.68 प्रतिशत के बीच रहा था.

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने सभी 8,549 परीक्षा सेंटरों पर सीसीटीवी की निगरानी में परीक्षाएं लीं. नकल के खिलाफ सख्ती से 11 लाख से अधिक परीक्षार्थियों ने बीच में ही परीक्षाएं छोड़ दी थीं, जबकि 1,000 से अधिक लोगों को गड़बड़ करते हुए पकड़ा गया था.

यूपी बोर्ड की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, साल 2017 में हाईस्कूल की परीक्षा में कुल 29,98,492 परीक्षार्थी शामिल हुए थे जिसमें से 24,34,242 परीक्षार्थी (81.18 प्रतिशत) पास हुए थे. वहीं 2018 में हाईस्कूल की परीक्षा में कुल 30,28,767 परीक्षार्थी शामिल हुए जिसमें से 22,76,445 परीक्षार्थी (75.16 प्रतिशत) पास हुए.

इसी प्रकार, इंटर की परीक्षा में पिछले साल 25,22,017 परीक्षार्थी शामिल हुए जिसमें से 20,83,724 परीक्षार्थी (82.62 प्रतिशत) पास हुए थे, जबकि इस साल की इंटरमीडिएट की परीक्षा में 26,04,093 परीक्षार्थी शामिल हुए जिसमें से 18,86,050 परीक्षार्थी (72.43 प्रतिशत) पास हुए.

फरवरी से शुरू हुई यूपी बोर्ड की परीक्षा के पहले दिन 1,80,826 परीक्षार्थियों ने बीच में ही परीक्षा छोड़ दी, जबकि दूसरे दिन यह संख्या बढ़कर 2,14,265 और तीसरे दिन यह बढ़कर 6,33,217 पहुंच गई. परीक्षा के चौथे दिन ऐसे परीक्षार्थियों की संख्या बढ़कर 10,44,619 पहुंच गई. अंतिम दिनों तक यह संख्या बढ़कर 11 लाख से ऊपर पहुंच गई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi