S M L

यूपी बोर्ड की परीक्षाएं आज से शुरू, योगी सरकार ने किया पूरी तैयारी का दावा

विश्व की सबसे बड़े एजुकेशन बोर्ड उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद इलाहाबाद की परीक्षाएं मंगलवार को शुरू हो गई हैं

Updated On: Feb 06, 2018 09:42 AM IST

FP Staff

0
यूपी बोर्ड की परीक्षाएं आज से शुरू, योगी सरकार ने किया पूरी तैयारी का दावा
Loading...

विश्व की सबसे बड़े एजुकेशन बोर्ड उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद इलाहाबाद की परीक्षाएं मंगलवार को शुरू हो गई हैं. योगी सरकार में पहली बार होने जा रही हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षा को लेकर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने अपनी सभी तैयारियां पूरी करने का दावा किया है.

इस बार हाई स्कूल और इण्टरमीडिएट की बोर्ड परीक्षाओं में 66 लाख से अधिक परीक्षार्थी 8549 परीक्षा केन्द्रों पर परीक्षा देंगे. यूपी बोर्ड की परीक्षा नकलविहीन, पारदर्शी और निष्पक्ष रुप से कराये जाने को लेकर बोर्ड के अधिकारी तमाम दावे दे रहे हैं. हाईस्कूल की परीक्षा जहां 6 फरवरी से शुरू होकर 22 फरवरी तक चलेंगीं. वहीं इण्टर की परीक्षायें 6 फरवरी से 12 मार्च तक चलेंगीं.

तीन महीने पहले घोषित कर दिया गया परीक्षा कार्यक्रम

वैसे तो योगी सरकार में होने जा रही पहली बोर्ड परीक्षा की तैयारियां जहां काफी पहले शुरू कर दी गईं थी. वहीं इस बार अक्टूबर के महीने में ही करीब तीन माह पहले बोर्ड परीक्षा कार्यक्रम भी घोषित कर दिया गया था. इसके साथ ही ऑनलाइन परीक्षा केन्द्रों का निर्धारण किए जाने और परीक्षा केन्द्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने की भी सरकार ने पहल की है. लेकिन परीक्षा के पहले नकल माफियों ने जिस तरह से शाहजहांपुर, हरदोई और जौनपुर जिलों में बोर्ड के अधिकारियों और सरकार की तैयारियों में सेंध लगायी है. उससे यूपी बोर्ड की परीक्षायें नकलविहीन कराना यूपी बोर्ड और सरकार के लिए बड़ी चुनौती होगी.

1923 में पहली बार आयोजित हुई थी यूपी बोर्ड की परीक्षा

बात अगर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की करें तो यूपी बोर्ड का गठन 1921 में हुआ था. लेकिन यूपी बोर्ड की पहली परीक्षा 1923 में आयोजित की गई थी. यूपी बोर्ड की पहली परीक्षा में हाईस्कूल में 5655 परीक्षार्थी और इण्टर में 89 परीक्षार्थी ही परीक्षा में शामिल हुए थे. इस दौरान हाईस्कूल की परीक्षा के लिए 171 और इण्टर की परीक्षा के लिए मात्र एक परीक्षा केन्द्र बनाया गया था. यूपी बोर्ड के 95 वर्षों के सफर के बाद यूपी बोर्ड के परीक्षार्थियों की संख्या 66 लाख 37 हजार 18 (66,37,018) पहुंच गई है. वर्ष 2018 की हाईस्कूल की परीक्षा में 36,55,691 परीक्षार्थी और इण्टरमीडिएट की परीक्षा में 29,81,387 परीक्षार्थी बोर्ड की परीक्षा में सम्मिलित हो रहे हैं.

75 जिलों में 8549 परीक्षा केंद्र

प्रदेश के सभी 75 जिलों में बोर्ड परीक्षा कराये जाने को लेकर कुल 8549 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं. अनुमान के मुताबिक बोर्ड की परीक्षा सम्पन्न कराने के लिए 3 लाख से ज्यादा कक्ष निरीक्षक, 500 से ज्यादा फ्लाइंग स्क्वॉयड की तैनाती की गई है. बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव का दावा है कि परीक्षा को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं और सभी परीक्षा केन्द्रों पर कापियां और पेपर भी पहुंचा दिए गए हैं.

8549 परीक्षा केंद्रों में सीसीटीवी

वहीं योगी सरकार में होने जा रही पहली बोर्ड परीक्षा पर सरकार की सख्ती का भी असर दिख रहा है. बोर्ड परीक्षा के केन्द्रों के निर्धारण में ही जहां पारदर्शिता के लिए ऑनलाइन परीक्षा केन्द्र बनाये गए हैं. वहीं नकल रोकने के लिए प्रदेश के सभी 8549 परीक्षा केन्द्रों को पहली बार सीसीटीवी से लैस भी किया गया है. बोर्ड की परीक्षा नकलविहीन, पारदर्शी और निष्पक्ष रूप से कराये जाने को लेकर प्रदेश में 2087 अति संवेदनशील और संवेदनशील परीक्षा केन्द्र चिन्हित किए गए हैं. जिसमें 566 अति संवेदनशील और 1521 परीक्षा केन्द्र संवेदनशील चिन्हित किए गए हैं.

50 जिलों में कोडेड कापियों की भी व्यवस्था की गई है. इसके साथ ही परीक्षा केन्द्रों के बाहर सुरक्षा बलों की भी तैनाती की जायेगी. बोर्ड की सचिव के मुताबिक परीक्षा केन्द्रों के बाहर ही परीक्षार्थियों की चेकिंग की जायेगी. कोई भी परीक्षार्थी परीक्षा केन्द्र में इलेक्ट्रानिक डिवाइस लेकर प्रवेश नहीं करेगा. उन्होंने कहा है कि परीक्षा शुरू होने के पहले परीक्षा केन्द्रों की भी जांच कर ली जायेगी.

(साभार न्यूज 18)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi