S M L

आरोपी BJP विधायक सेंगर गिरफ्तार, आज ट्रांजिट रिमांड पर ले सकती है CBI

इस मामले में पहला केस बलात्कार से जुड़ा है जिसमें सेंगर और एक महिला शशि सिंह आरोपी हैं

Updated On: Apr 14, 2018 09:52 AM IST

FP Staff

0
आरोपी BJP विधायक सेंगर गिरफ्तार, आज ट्रांजिट रिमांड पर ले सकती है CBI

उन्नाव गैंगरेप मामले में सीबीआई ने शुक्रवार रात बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को गिरफ्तार कर लिया. इससे पहले उनसे 16 घंटे लंबी पूछताछ हुई थी. सीबीआई आज कुलदीप सेंगर को कोर्ट में पेश करेगी. उसके बाद ट्रांजिट रिमांड के लिए याचिका दाखिल की जाएगी. इस मामले में सेंगर के खिलाफ तीन मामले दर्ज किए गए हैं.

विधायक की गिरफ्तारी पर पीड़िता के चाचा ने एएनआई से कहा, सुनकर खुशी हुई कि सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया है. देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी इस मामले को देख रही है. अगर हमें इसपर भरोसा नहीं होगा तो हमें देश छोड़कर चले जाना चाहिए. विधायक जी ने मेरे भाई को मरवा दिया, जो भी अधिकारी, पुलिसकर्मी इसमें शामिल हैं, उन्हें जेल भेजा जाना चाहिए.

सेंगर को शुक्रवार सुबह करीब पांच बजे लखनऊ में नवल किशोर रोड स्थित सीबीआई के कार्यालय लाया गया था. इलाहाबाद हाई कोर्ट ने सेंगर की तत्काल गिरफ्तारी का आदेश देते हुए कहा था कि वह कानून और व्यवस्था की मशीनरी को ‘प्रभावित कर रहे हैं.’

इस मामले में पहला केस कथित बलात्कार के संबंध में है जिसमें सेंगर और एक महिला शशि सिंह आरोपी हैं. दूसरा केस हिंसा से और पीड़िता के पिता की न्यायिक हिरासत में मौत से जुड़ा है. हिंसा मामले में चार स्थानीय लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, चूकि पुलिस ने हत्या के आरोप बाद में जोड़े हैं इसलिए ये सीबीआई की प्राथमिकी में दर्ज नहीं है.

तीसरा मामला पीड़िता के पिता के खिलाफ उन आरोपों से जुड़ा है जिसमें उन्हें हथियार कानून के तहत गिरफ्तार करके स्थानीय पुलिस ने जेल में बंद कर दिया था. वहां रहस्यमयी हालत में उनकी मौत हो गई थी.

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में उनके शरीर पर चोट के निशान पाए जाने की बात सामने आई है. पीड़िता का आरोप है कि विधायक ने चार जून 2017 में अपने घर पर उसके साथ रेप किया था जब वह अपने रिश्तेदार के साथ वहां नौकरी मांगने गई थी. पीड़िता के पिता की विधायक के भाई और अन्य की कथित तौर पर मारपीट के बाद करीब एक सप्ताह के बाद न्यायिक हिरासत में मौत हो गई थी.

पूरा मामला उस वक्त सुर्खियों में आया जब नाबालिग पीड़िता ने सेंगर के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई नहीं होने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के घऱ के बाहर रविवार को आत्मदाह की कोशिश की. अपने विधायक पर बलात्कार के आरोप लगने से शर्मिंदगी झेल रही योगी आदित्यनाथ सरकार ने गुरुवार को इन मामलों को केंद्र के पास भेज दिया था.

लड़की के पिता की मौत के पहले का एक वीडियो वायरल हो गया था जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि पुलिस की मौजूदगी में विधायक के भाई और अन्य ने उनके साथ मारपीट की थी. उन्हें रायफल के बट और लाठी डंडों से मारा गया था. बता दें, केंद्र ने उत्तर प्रदेश सरकार की सिफारिश मंजूर करते हुए गुरुवार की शाम इस केस की जांच केंद्रीय जांच एजेंसी से कराने का आदेश जारी किया था. इससे पहले हाईकोर्ट की फटकार के बाद पुलिस ने आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi