S M L

केंद्रीय मंत्री के बेतुके बोल: रेप नहीं रोका जा सकता, बात का बतंगड़ न बनाएं

एक तरफ सरकार पोक्सो जैसे कानून में संशोधन कर रही है, तो दूसरी ओर ऐसे विवादित बयान सरकार की छवि को नुकसान पहुंचा सकते हैं

FP Staff Updated On: Apr 22, 2018 10:30 AM IST

0
केंद्रीय मंत्री के बेतुके बोल: रेप नहीं रोका जा सकता, बात का बतंगड़ न बनाएं

केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने बलात्कार की घटनाओं पर रविवार को एक विवादित बयान दिया. उन्नाव और कठुआ रेप मामलों पर बोलते हुए गंगवार ने कहा कि भारत जैसे बड़े देश में रेप की एक-दो घटनाएं हो जाती हैं. ये कोई बड़ी बात नहीं है.

केंद्रीय मंत्री गंगवार ने कहा, ऐसी घटनाएं (बलात्कार) दुर्भाग्यपूर्ण होती हैं, पर कभी कभी रोका नहीं जा सकता है. सरकार सक्रिय है हर जगह, कार्यवाही कर रही है. गंगवार ने आगे कहा, इतने बड़े देश में एक दो घटना हो जाए तो बात का बतंगड़ नहीं बनाना चाहिए.

दिनोंदिन बढ़ती बलात्कार की घटनाएं और बच्चियों के खिलाफ यौन हिंसा को देखते हुए शनिवार को केंद्रीय कैबिनेट ने पोक्सो एक्ट में संशोधन किया. इस कानून में सुधार करते हुए बच्चियों के साथ बलात्कार के दोषियों को फांसी की सजा का प्रावधान किया गया है. साथ ही जेल की सजा की मियाद भी बढ़ाई गई. सरकार जब इस दिशा में इतना बड़ा कदम बढ़ा रही है, तब किसी केंद्रीय मंत्री का ऐसा बयान विवाद बढ़ा सकता है.

केंद्रीय श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने शनिवार को ये बातें उत्तर प्रदेश के बरेली में कही. बता दें कि पिछले दिनों कठुआ और उन्नाव रेप केस को लेकर पूरे देश में कफी विरोध प्रदर्शन हुए.

दरअसल, जम्मू- कश्मीर के कठुआ में 8 साल की बच्ची के साथ हुए गैंगरेप मामले ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया. बताया जा रहा है कि कठुआ में खानाबदोश बाकरवाल समुदाय (अल्पसंख्यक) को इलाके से हटाने के लिए बच्ची को निशाना बनाया गया था. बच्ची के परिवार ने सुप्रीम कोर्ट से इस केस की सुनवाई जम्मू के बजाय चंडीगढ़ में कराने की मांग की है. सुप्रीम कोर्ट ने इसपर जम्मू-कश्मीर सरकार से जवाब मांगा है.

इसके अलावा पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के उन्नाव में भी इसी तरह से युवती के साथ गैंगरेप हुआ. पीड़िता ने उन्नाव के बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर और उनके साथियों पर गैंगरेप का आरोप लगाया है. फिलहाल कुलदीप सेंगर सीबीआई कस्टडी में हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi