S M L

'मोदी और कांग्रेस नेताओं में मूंछ और पूंछ के बाल जैसा अंतर'

केंद्रीय पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस नेताओं के बीच उतना ही अंतर है, जितना मूंछ और पूंछ के बाल के बीच होता है और इस अंतर को कांग्रेस पाट नहीं पाएगी

Updated On: Jan 01, 2018 07:19 PM IST

Bhasha

0
'मोदी और कांग्रेस नेताओं में मूंछ और पूंछ के बाल जैसा अंतर'

नवनिर्वाचित कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर उनका नाम लिए बगैर निशाना साधते हुए केंद्रीय पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस नेताओं के बीच उतना ही अंतर है, जितना मूंछ और पूंछ के बाल के बीच होता है और इस अंतर को कांग्रेस पाट नहीं पाएगी.

शिवपुरी जिले के कोलारस में बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए तोमर ने शनिवार को कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस नेताओं के बीच मूंछ और पूंछ के बाल जैसा अंतर है. इस अंतर को कांग्रेस नहीं पाट पाएगी.'

उन्होंने यह बात कांग्रेस द्वारा हाल ही में गुजरात में हुए विधानसभा चुनाव में तीन युवा नेताओं-पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, ऊना दलित आंदोलन से चर्चा में आए नेता जिग्नेश मेवानी एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के नेता अल्पेश ठाकोर- के साथ समझौता कर बीजेपी को दी गई चुनौती पर अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को एक उदाहरण देते हुए कही. हालांकि उदाहरण देते समय तोमर का इशारा राहुल की ओर था, लेकिन उन्होंने उनका नाम स्पष्ट रूप से नहीं लिया. गुजरात में हुए इस चुनाव में कांग्रेस को भाजपा से हार का सामना करना पड़ा था.

हालांकि, 'जब तोमर से इस मामले में उनका रुख स्पष्ट करने के लिए संपर्क किया गया, तो उन्होंने सोमवार समाचार एजेंसी पीटीआई को फोन पर बताया, 'मैंने किसी का नाम नहीं लिया है. मैं मोदी जी के व्यक्तित्व एवं कांग्रेस नेताओं के व्यक्तित्व में जो फर्क है, उसके बारे में बोल रहा था.'

गुजरात एवं उत्तरप्रदेश में हुए हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों का जिक्र करते हुए तोमर ने कहा कि कांग्रेस ने उत्तरप्रदेश में राहुल गांधी को आगे कर समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव से समझौता कर चुनाव लड़ा. इसके पीछे उम्मीद थी कि युवाओं का साथ मिलेगा. इसके बाद गुजरात में भी तीन युवा लड़कों का साथ लेकर चुनाव लड़ा.

नरेंद्र तोमर की फेसबुक वॉल से साभार

नरेंद्र तोमर की फेसबुक वॉल से साभार

उन्होंने कहा, 'लेकिन इन दोनों राज्यों के चुनाव परिणामों ने बता दिया कि देश की जनता नरेंद्र मोदी के साथ है.' तोमर ने कहा, 'कांग्रेस एक परिवार की पार्टी है. वहां पर एक ही परिवार का अध्यक्ष बन सकता है, लेकिन बीजेपी में एक चाय बेचने वाला गरीब परिवार का बालक प्रधानमंत्री की कुर्सी तक पहुंच सकता है.'

उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा, 'ऐसा नहीं है कि कांग्रेस में कोई योग्य नेता नहीं हैं. लेकिन परिवारवाद की राजनीति के चलते दूसरे नेताओं को मौका ही नहीं मिलता.' उन्होंने कहा कि देश में कांग्रेस धराशायी हो चुकी है और वर्ष 2014 के बाद से देश में कांग्रेस का पतन जारी है.

तोमर ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पर निशाना साधते हुए कहा कि यहां पर सांसद पर्यटकों की तरह आते हैं और शिलान्यास व भूमिपूजन कर चले जाते हैं. उन्होंने कहा कि सिंधिया यह नहीं बताते कि ये शिलान्यास और योजनाएं किन सरकारों की देन है. वह यहां की जनता को यह भी बताएं कि ये केंद्र की मोदी व प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान की सरकारों की योजनाएं हैं.

कार्यकर्ता सम्मेलन के बाद कोलारस में जब पत्रकारों तोमर से पूछा कि गुजरात का चुनाव बीजेपी ने बड़ी मुश्किल से जीता है, ऐसे में मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार के खिलाफ एंटी इनकमबेंसी रहेगी क्या? इस पर अपनी प्रतिक्रिया में तोमर ने कहा, 'मध्य प्रदेश में कोई एंटी इंकमबेंसी नहीं है.

हमने गुजरात व हिमाचल का चुनाव जीता. अब भाजपा कोलारस व मुंगावली का उपचुनाव भी इसी तरह जीतेगी. इसके अलावा, वर्ष 2018 में मध्यप्रदेश मे होने वाले विधानसभा चुनाव जीत कर एवं वर्ष 2019 में लोकसभा चुनाव जीत कर भी भाजपा सत्ता में आएगी.'

मालूम हो कि शिवपुरी जिले के कोलारस और अशोकनगर जिले के मुंगावली विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव होने वाले हैं. ये दोनों सीटें कांग्रेस के पास रही हैं. बीजेपी इन दोनों सीटों पर जीत दर्ज करने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाए हुए है. कांग्रेस विधायक महेन्द्र सिंह कालूखेड़ा के निधन के बाद मुंगावली सीट खाली हो गई है, जबकि कांग्रेस विधायक रामसिंह यादव के निधन के बाद कोलारस सीट खाली हुई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi