S M L

संसद का बजट सत्र: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की स्पीच की 10 बड़ी बातें

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दोनो सदनों को किया संबोधित

Updated On: Jan 31, 2017 01:40 PM IST

FP Politics

0
संसद का बजट सत्र: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की स्पीच की 10 बड़ी बातें

संसद का बजट सत्र राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ शुरू हुआ. दोनों सदनों को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने सरकार के कामों की जमकर तारीफ की. राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार की हर योजना के केंद्र में जनहित और जनशक्ति रहा है.

आंतक और कालेधन पर लगाम

राष्ट्रपति ने सरकार के नोटबंदी के फैसले को कालेधन और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अहम कदम बताया. प्रणब मुखर्जी ने कहा कि  सरकार ने अपने सभी फैसलों में जनशक्ति का महत्व दिया है. कालेधन और आतंक के खिलाफ लड़ाई के लिए नोटबंदी के दौरान भी जनता का सहयोग शानदार रहा.

गरीब कल्याण के लिए काम

राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार ने दीनदयाल उपाध्याय के विचारों पर चलते हुए काम किया है. इसमें समाज के सबसे गरीब, पिछड़े वर्गों के लिए योजनाएं बनाई गईं.

कालेधन की खिलाफ लड़ाई निर्णायक

राष्ट्रपति ने कालेधन के खिलाफ अपनी सरकार के कदमों की तारीफ की. उन्होंने कहा कि सरकार ने अपनी पहली बैठक में ही एसआईटी बनाई. मॉरिशस और सिंगापुर का रुट बंद किया.

जनधन योजना से बदलाव

जनधन योजना के अंतर्गत 26 करोड़ खाते खोले गए. आर्थिक रूप से सभी को व्यवस्था में शामिल करने के लिए यह बड़ा कदम था. गरीबी खत्म करने के लिए हर नागरिक का बैंक खाता जरुरी है. पोस्ट ऑफिसों को बैंक में बदलकर सरकार ने गरीबों के घर तक बैंक पहुंचाने की कोशिश की है.

प्रधानमंत्री आवास योजना

राष्ट्रपति ने कहा की मेरी सरकार 2022 तक हर नागरिक के सिर पर छत देने के लिए काम कर रही है. प्रधानमंत्री आवास योजना में सरकार लोगों को सस्ते घर उपलब्ध करा रही है. सरकार ने घर खरीदने के लिए लोन में भी छूट देने की घोषणा की है.

योजनाओं की फेहरिस्त

राष्ट्रपति ने गरीब कल्याण के लिए चलाई जा रही सरकार की तमाम योजनाओं की तारीफ की. इसमें दीनदयाल ग्रामज्योति योजना, मिशन इंद्रधनुष, उज्जवला योजना शामिल थीं. इनके जरिए राष्ट्रपति ने बताया कि सरकार गांव, गरीब और महिलाओं के कल्याण पर खास जोर दे रही है.

रियो ओलंपिक के जरिए नारी शक्ति का जिक्र

राष्ट्रपति ने कहा कि उनकी सरकार नारी शक्ति को  बढ़ावा देने के लिए खास जोर दे रही है. रियो में पदक जीतने वाली महिला खिलाड़ियों का जिक्र सरकार ने किया. बेटी बचाओ, बेटी  पढ़ाओ और प्रधानमंत्री उज्जवला योजना जैसी सरकार के कदम का केंद्र महिलाएं हैं.  प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान में देश की गर्भवती महिलाओं को मुफ्त मदद दी जा रही है.

किसानों की सरकार

राष्ट्रपति ने कहा कि यह सरकार किसानों की सरकार है. सिंचाई से लेकर बीमा तक. सरकार किसानों को भी रुपे कार्ड दे रही है. 3 करोड़ किसान क्रेडिट कार्ड को रुपे कार्ड में बदला जा रहा है. इसी के साथ सिंचाई के लिए बड़े पैमाने पर प्रधानमंत्री सिंचाई योजना शुरु की गई है.

हर हाथ को हुनर

देश के शिक्षित युवाओं की क्षमता विकसित करने के लिए सरकार ने कई क्षमता उन्नयन कार्यक्रम चलाए हैं. दस हजार करोड़ रुपए के बजट के साथ नेशनल अपरेंटिस स्कीम शुरु की गई है. प्रधानमंत्री मुद्रा योजना में दो लाख करोड़ से ज्यादा का लोन बांटा गया है.

डिजिटल इंडिया

पूरे देश को डिजिटल बनाने के लिए सरकार ने नेशनल ऑप्टिकल फाइबर केबल योजना शुरू की है. भारत नेट योजना में सरकार ने 75,700  ग्राम पंचायतों को फाइबर केबल से जोड़ दिया है. आधार पेमेंट योजना भी जल्दी ही शुरु की जाएगी.

बजट सत्र में संसद की कार्यवाही यहां देखें:

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi