Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

बजट 2017: किसने क्या कहा?

विपक्ष इस बजट से संतुष्ट नजर नहीं आ रहा.

Amitesh Amitesh Updated On: Feb 28, 2017 08:00 PM IST

0
बजट 2017: किसने क्या कहा?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आम बजट को ऐतिहासिक बताया है. प्रधानमंत्री ने वित्त मंत्री अरूण जेटली और उनकी पूरी टीम की पीठ थपथपाते हुए कहा है कि इस बजट से न केवल बुनियादी ढांचे को मजबूती मिलेगी बल्कि, यह बजट कृषि और ग्रामीण क्षेत्र के लिए भी बेहतर है.

खासतौर से मनरेगा में रिकार्ड 48 हजार करोड़ रूपए इस बार दिए गए हैं. बजट पेश होने के बाद अपनी प्रतिक्रिया में प्रधानमंत्री ने कहा है कि इनकम टैक्स  स्लैब के साथ-साथ टैक्स रेट में पांच फीसदी की कमी करना एक ऐतिहासिक कदम है.

नोटबंदी के बाद से ही सरकार से मिडिल क्लास के लिए राहत की उम्मीद की जा रही थी. टैक्स रेट में बदलाव कर सरकार ने अपनी तरफ से मिडिल क्लास को खुश करने की एक कोशिश की है.

रेलवे सेफ्टी के लिए अलग से फंड बनाने की पहल को भी लोगों के हित में बताते हुए उन्होंने इसकी तारीफ की है. प्रधानमंत्री ने सरकार के बजट को कालेधन पर रोक लगाने वाला बताया है.

वित्त मंत्री की तरफ से पेश किए गए आम बजट की तारीफ करते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने इसे मिडिल क्लास, गरीब और किसान के हित वाला बजट बताया है. अमित शाह ने खासतौर से किसानों के हित की बात करते हुए कहा है कि इस बजट में किए गए प्रावधानों से किसानों की आमदनी दोगुनी करने में मदद मिलेगी.

अमित शाह ने इसे विकास की गति देने वाला बजट बताया है. लेकिन, बजट को लेकर सरकार विरोधियों के निशाने पर है.

rahul gandhi

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बजट को लेकर सरकार पर तीखा हमला किया है. राहुल गांधी ने वित्त मंत्री अरूण जेटली के बजट को शेरो-शायरी वाला बजट बताया है. कांग्रेस उपाध्यक्ष ने बजट पर सवाल खड़ा करते हुए कहा है कि इस बजट में न ही कोई दिशा है और न ही कोई आईडिया.

राहुल गांधी ने कहा है कि सरकार ने न तो किसानों के लिए और न ही युवाओं के लिए कुछ किया है.

राहुल गांधी के अलावा बाकी विपक्षी दल के नेता भी बजट को लेकर सवाल खड़े कर रहे हैं, लेकिन, सरकार के सहयोगी दल बजट को लेकर सरकार की पीठ थपथपाने में लगे हैं.

केंद्रीय मंत्री और लोकजनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष रामविलास पासवान ने आम बजट को सामाजिक और आर्थिक सुधार वाला बजट बताया है.

सूचना और प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडु ने आम बजट को दशाश्वमेघ यज्ञ बताया है. नायडु ने इसे ऐतिहासिक बजट बताया है.

टीएमसी पहले से ही सरकार पर हमलावार थी लिहाजा एक बार फिर से टीएमसी ने बजट को लेकर अपनी आंखें तरेरनी शुरू कर दी है. टीएमसी प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस बजट को आधारहीन और दिशाहीन बजट बताया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi