S M L

प्याज की बंपर फसल ने ली दो किसानों की जान, कम कीमत मिले तो खुदकुशी कर ली

नासिक से भारत की कुल प्याज का 50 प्रतिशत हिस्सा आता है. इस बार बंपर फसल होने की वजह से किसानों को अपनी उपज की सही कीमत नहीं मिल पा रही है

Updated On: Dec 09, 2018 09:58 PM IST

Bhasha

0
प्याज की बंपर फसल ने ली दो किसानों की जान, कम कीमत मिले तो खुदकुशी कर ली

महाराष्ट्र के नासिक जिले में कर्ज और कम कीमत मिलने के कारण बीते दो दिन में दो प्याज किसानों ने कथित रूप से आत्महत्या कर ली.

पुलिस ने रविवार को बताया कि मृतकों की पहचान तात्याभाउ खैरनर (44) और मनोज धोंडगे (33) के तौर पर हुई है. वे उत्तर महाराष्ट्र के बागलाण तालुका के रहने वाले हैं.

नासिक जिले का भारत में प्याज उत्पादन का 50 प्रतिशत हिस्सा है. जिले के किसान दावा कर रहे हैं कि अच्छी फसल होने के कारण उन्हें उनकी उपज की अच्छी कीमत नहीं मिल रही है.

ये भी पढ़ें: खुदरा बाजार में एक किलो टमाटर 20 रुपए और किसानों को मिल रहे सिर्फ 3 रुपए

बागलाण तालुका के पुलिस अधिकारी ने रविवार को बताया कि खैरनार ने भडाणे गांव में अपने प्याज के शेड में फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली. उन्होंने कहा कि उनके शव के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला.

अधिकारी ने कहा कि मृतक के रिश्तेदारों ने दावा किया कि वह कम कीमत मिलने की वजह से अपनी 500 क्विंटल प्याज बेच नहीं पा रहे थे. उनके परिवार ने कहा कि खैरनार पर 11 लाख रुपए का बकाया कर्ज था.

मालेगांव में भी एक किसान ने की आत्महत्या:

अन्य घटना में, 33 वर्षीय मनोज धोंडगे ने जहरीला रसायन पीकर शुक्रवार को कथित रूप से खुदकुशी कर ली.

पुलिस ने कहा कि धोंडगे शुक्रवार को अपने खेत में बेहोश मिले और उनके पास जहरीले रसायन की एक बोतल थी. उन्हें मालेगांव के सिविल अस्पताल में ले जाया गया जहां शनिवार सुबह उसकी मौत हो गई.

पुलिस ने कहा कि धोंडगे के परिवार ने बताया कि उनपर 21 लाख रुपए का बकाया कर्ज था और वह थोक बजार में प्याज की कम कीमत मिलने की वजह से अपनी उपज बेच नहीं पाए.

ये भी पढ़ें:

मंडी में प्याज 50 पैसे/किलो, किसानों ने सड़क पर छोड़ दी पैदावार

किसान को 750 किलोग्राम प्याज के लिए मिले सिर्फ 1064 रुपए, नाराज हो कर प्रधानमंत्री को भेजी राशि

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi