S M L

तूतीकोरिन: ग्रामीणों ने वामपंथी संगठनों पर लगाया हिंसा भड़काने का आरोप

स्थानीय लोगों ने दावा किया है कि एक वाम संगठन ने जिला कलेक्ट्रेट का घेराव करने के लिये उन्हें बरगलाया था

Updated On: Jul 05, 2018 10:32 PM IST

Bhasha

0
तूतीकोरिन: ग्रामीणों ने वामपंथी संगठनों पर लगाया हिंसा भड़काने का आरोप

स्टरलाइट के विरोध में पिछले दिनों यहां हुए हिंसक प्रदर्शन में शामिल स्थानीय लोगों ने दावा किया है कि एक वाम संगठन ने जिला कलेक्ट्रेट का घेराव करने के लिये उन्हें बरगलाया था.

22 मई को सैकड़ों प्रदर्शनकारी सड़क पर उतरे और कलेक्ट्रेट पर धावा बोल दिया था. उन्होंने कई इमारतों और वाहनों को आग लगा दी थी. इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई की जिससे लोगों में और आक्रोश भड़क गया. जिसके बाद तमिलनाडु सरकार ने इस तांबा इकाई को बंद करने का आदेश दे दिया था.

बहरहाल मक्कल अधिकारम नामक संगठन ने इस आरोप को खारिज कर दिया है. तूतीकोरिन जिले में मदाथुर के ग्रामीणों ने जिला कलेक्ट्रेट पर धरना देने के वास्ते मक्कल अधिकारम और उनके सहयोगी संगठनों पर उनका हृदय परिवर्तन करने का आरोप लगाया.

दो जुलाई को जिला कानूनी सेवा प्राधिकरण में दायर एक याचिका में ग्रामीणों ने कानूनी मदद मांगी और आशंका जतायी कि हिंसा के संबंध में वहां के कई लोगों को गिरफ्तार किया जा सकता है.

यह पूछे जाने पर कि हिंसा की घटनाओं के इतने दिन बाद यह याचिका क्यों दायर की गयी, वहां के निवासी डी पोन पांडी ने बताया, मेरे खिलाफ करीब 40 मामले दर्ज किए गए हैं. हिंसा से मदाथुर के ग्रामीणों का कोई लेना-देना नहीं है. इसलिए हमने कानूनी मदद मांगी है.' पांडी याचिका के मुख्य हस्ताक्षरकर्ता हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi